ज्योतिषधर्म

आज है तृतीया श्राद्ध, जानिए कब है अशुभ मुहूर्त

आज के समय में लोग पंचांग देखते हैं, ऐसे में आज हम लेकर आए हैं आज का यानी 23 सितंबर का पंचांग।

23 सितंबर का पंचांग-


आश्विनी, कृष्ण द्वितीया बृहस्पतिवार, विक्रम संवत् 2078। सौर आश्विन मास प्रविष्टे 08, सफ़र 15, हिजरी 1443 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 23 सितम्बर 2021 ई॰।

सूर्य दक्षिणायण, उत्तर गोल, शरद् ऋतु। राहुकाल अपराह्न 1 बजकर 30 मिनट से 3 बजे तक। द्वितीया तिथि प्रातः 6 बजकर 54 मिनट तक उपरांत तृतीया तिथि का आरंभ।

रेवती नक्षत्र प्रातः 06 बजकर 44 मिनट तक उपरांत अश्विनी नक्षत्र का आरंभ, ध्रुव योग अपराह्न 01 बजकर 53 मिनट तक उपरांत व्याघात योग का आरंभ।

गर करण प्रातः 06 बजकर 54 मिनट तक उपरांत विष्टि करण का आरंभ। चंद्रमा प्रातः 6 बजकर 44 मिनट तक मीन उपरांत मेष राशि पर संचार करेगा।

आज के व्रत त्योहार : तृतीया श्राद्ध

सूर्योदय का समय 23 सितंबर : सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर।

सूर्यास्त का समय 23 सितंबर : शाम 6 बजकर 17 मिनट पर।

आज का शुभ मुहूर्त 23 सितंबर 2021 : अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 49 मिनट से 12 बजकर 37 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 2 बजकर 14 मिनट से 3 बजकर 3 मिनट तक रहेगा। निशीथ काल मध्य रात्रि 11 बजकर 50 मिनट से 12 बजकर 37 मिनट तक। गोधूलि बेला शाम 6 बजकर 4 मिनट से 6 बजकर 28 मिनट तक। अमृत काल मध्‍य रात्रि के बाद 1 बजकर 3 मिनट से 2 बजकर 48 मिनट तक। ब्रह्म मुहूर्त अगले दिन 4 बजकर 35 से 5 बजकर 22 मिनट तक। सर्वार्थ सिद्धि योग पूरे दिन रहेगा।

आज का अशुभ मुहूर्त 23 सितंबर 2021 : राहुकाल दोपहर में 1 बजकर 30 मिनट से 3 बजे तक। सुबह 6 बजे से 7 बजकर 30 मिनट तक यमगंड रहेगा। सुबह 9 बजे से 10 बजकर 30 म‍िनट तक गुलिक काल रहेगा। दुर्मुहूर्त काल सुबह 10 बजकर 12 मिनट से 11 बजकर 1 मिनट तक। उसके बाद दोपहर में 3 बजकर 3 मिनट से 3 बजकर 51 मिनट तक। पंचक काल सुबह 6 बजकर 10 मिनट से 6 बजकर 44 मिनट तक रहेगा। भद्रा सुबह 7 बजकर 37 मिनट से अगले दिन सुबह 6 बजकर 10 मिनट तक।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button