धर्म

आज है पापांकुशा एकादशी व्रत, जानिए पंचांग और शुभ मुहूर्त

आजकल लोग दिन की शुरुआत में पंचांग देखते हैं क्योंकि पंचांग से शुभ-अशुभ मुहूर्त और तिथि का ज्ञान होता है। तो आइए आज हम जानते हैं आज का यानी 16 अक्टूबर का पंचांग।

16 अक्टूबर का पंचांग-

आश्विन, शक संवत् 1943, आश्विनी शुक्ल, एकादशी, शनिवार, विक्रम संवत् 2078। सौर आश्विन मास प्रविष्टे 31, रवि उल्लावल 09, हिजरी 1443 (मुस्लिम) तदनुसार अंग्रेजी तारीख 16 अक्टूबर 2021 ई॰। सूर्य दक्षिणायण, दक्षिण गोल, शरद् ऋतु।

राहुकाल प्रातः 9 बजे से 10 बजकर 30 मिनट तक। एकादशी तिथि सायं 05 बजकर 38 मिनट तक उपरांत द्वादशी तिथि का आरंभ। घनिष्ठा नक्षत्र प्रातः 09 बजकर 22 मिनट तक उपरांत शतभिषा नक्षत्र का आरंभ।

गण्ड योग रात्रि 10 बजकर 40 मिनट तक उपरांत वृद्धि योग का आरंभ। विष्टि करण सायं 05 बजकर 38 मिनट तक उपरांत बालव करण का आरंभ। चंद्रमा दिन रात कुंभ राशि पर संचार करेगा।

आज के व्रत त्योहार : पापांकुशा एकादशी व्रत 2021।

सूर्योदय का समय 16 अक्टूबर 2021 : सुबह 6 बजकर 22 मिनट पर।
सूर्यास्त का समय 16 अक्टूबर 2021 : शाम 5 बजकर 50 मिनट पर।

आज का शुभ मुहूर्त 16 अक्टूबर 2021 : अभिजीत मुहूर्त सुबह 11 बजकर 43 मिनट से 12 बजकर 29 मिनट तक। विजय मुहूर्त दोपहर 2 बजकर 1 मिनट से 2 बजकर 47 मिनट तक रहेगा। निशीथ काल मध्‍यरात्रि 11 बजकर 42 मिनट से 12 बजकर 32 मिनट तक। गोधूलि बेला शाम 5 बजकर 39 मिनट से 6 बजकर 3 मिनट तक। अमृत काल आधी रात के बाद 2 बजकर 32 मिनट से 4 बजकर 10 मिनट तक। ब्रह्म मुहूर्त अगले दिन सुबह 4 बजकर 42 मिनट से 5 बजकर 32 मिनट तक। रवि योग सुबह 6 बजकर 22 मिनट से 9 बजकर 22 मिनट तक।

आज का अशुभ मुहूर्त 16 अक्टूबर 2021 : राहुकाल सुबह 9 बजे से 10 बजकर 30 मिनट तक। दोपहर में 1 बजकर 30 मिनट से 3 बजकर 30 मिनट तक यमगंड रहेगा। सुबह 6 बजे से 7 बजकर 30 मिनट तक गुलिक काल रहेगा। दुर्मुहूर्त काल सुबह 6 बजकर 22 मिनट से 7 बजकर 54 मिनट तक रहेगा। भद्रा सुबह 6 बजकर 22 मिनट से 5 बजकर 37 मिनट तक। पंचक पूरे दिन रहेगा।

Related Articles

Back to top button