जरा हटके

डॉक्टर ने 32 किमी दूर रहकर की इस महिला मरीज की हार्ट सर्जरी, पहली बार हुआ ऐसा

दुनिया में आज के ज़माने में टेक्नोलॉजी की मदद से इंसान कुछ भी कर सकता है. इसी का एक नमूना है दिल का ऑपरेशन जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं. ये कोई आम ऑपरेशन नहीं है बल्कि अनोखा है. ये ऑपरेशन एक रोबोट के जरिये हुआ है. पहली टेलीरोबोटिक कोरोनरी सर्जरी हाल ही में गुजरात में सफलता पूर्वक पूरी हुई. दिल की बीमारी से जूझ रही एक बुजुर्ग महिला का ऑपरेशन रोबोट के ज़रिये किया गया. जानते  हैं पूरा मामला. 

दरअसल, ये ऑपरेशन 32 किलोमीटर दूर बैठे विशेषज्ञ ने रोबोट के जरिए किया. इस हार्ट सर्जरी को एक बड़ी स्क्रीन पर मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के साथ मीडिया को दिखाया गया. ऑपरेशन हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ तेजस पटेल ने गांधीनगर के अक्षरधाम मंदिर में बैठकर किया. हृदय रोग से पीड़ित महिला को अक्षरधाम मंदिर से 32 किलोमीटर दूर अहमदाबाद के एपेक्स हार्ट इंस्टीट्यूट में भर्ती किया गया था. जहां रोबोट के जरिए महिला के धमनियो में ब्लॉकेज को खोला गया.
 
इसके अलावा बता रोबोट को निर्देश देने के लिए डॉ पटेल ने 100 एमबी प्रति सेकंड की इंटरनेट लाइन का इस्तेमाल किया था. डॉ पटेल ने बताया कि अगर 20 एमबी की स्पीड भी होती तो भी कोई दिक्कत नहीं आती. डॉ तेजस के मुताबिक यह प्रक्रिया चिकित्सा जगत में एक नई राह खोलेगी. इतना ही नहीं, इस प्रक्रिया के लिए अमेरिका के कोरिंडस वैस्कुलर रोबोटिक्स इंक की कोरपाथ तकनीक को इस्तेमाल में लाया गया था. बताया जा रहा है कि यह प्रक्रिया बेहद महंगी है लेकिन समय के साथ ही सस्ती हो जाएगी.

डॉ पटेल ने बताया कि अक्षरधाम मंदिर को चुनने को आपरेशन के लिए चुनने की एक खास वजह थी. क्योंकि यह दुनिया का एक खास ऑपरेशन था. जिसके चलते वह एक तरह के मानसिक दबाव में थे. इस लिए वह एक पॉजिटिव एनर्जी चाहते थे.

Related Articles

Back to top button