विदेश

कैंसर के नाम पर महिला ने की 22 करोड़ की ठगी, मिले पैसों से खरीदा फैंसी हैंडबैग

अपने परिवार और दोस्तों को मस्तिष्क कैंसर से ग्रस्त होने की झूठी सूचना देकर उनसे 2,50,000 पौंड से अधिक रकम ऐंठने के अपराध में भारतीय मूल की एक महिला को ब्रिटेन की एक अदालत ने शुक्रवार को चार साल की कैद की सजा सुनायी.  वर्ष 2013 में जस्मीन मिस्त्री ने अपने पति विजय कटेचिया से कहा कि उसे कैंसर है.  उसने अपने दावे के समर्थन में एक व्हाट्सअप मैसेज भेजा जिसे देख कटेचिया को लगा कि यह उसकी डॉक्टर की रिपोर्ट है. बाद में जांच से खुलास हुआ कि मिस्त्री ने (भिन्न इंसान होने का बहाना किया और) एक भिन्न सिमकार्ड का इस्तेमाल कर यह संदेश भेजा था. दिसंबर, 2014 के आखिर में उसने अपने पूर्व पति कटेचिया से कहा कि उसके गंभीर मस्तिष्क कैंसर का मतलब है कि वह महज छह महीने की मेहमान है. 

साथ ही उसने एक अन्य फर्जी संदेश भेजा जिसमें लिखा था कि इसका इलाज अमेरिका में ही हो सकता है और इलाज पर करीब 500,000 पौंड का खर्च आएगा. कटेचिया, उनके परिवार और अन्य लोगों ने 2015-17 के बीच यह सोचकर चंदा दिया और पैसा इकट्ठा किया कि उसे जान बचाने के लिए इलाज की जरुरत है. मिस्त्री के पूर्व पति को तब संदेह हुआ जब उनके एक मित्र ने उसका कथित ब्रेन स्कैन की तस्वीर देखी.

मिस्त्री ने यह कह रखा था कि डॉक्टर से मुलाकात के दौरान उसने यह स्कैन कराया था. कटेचिया ने स्कैन को अपने एक डॉक्टर मित्र को दिखाया जिसने उनसे कहा कि यह गूगल से डाउनलोड की गयी है.  इसके बाद पूरी साजिश बेनकाब हो गयी. कटेचिया ने उन सिमकार्डों की असलियत ढूढ निकाली जिनसे मिस्त्री ने अन्य व्यक्ति के रुप में संदेश भेजे थे.  जब इन बातों को मिस्त्री के सामने रखा गया तब उसने माना कि उसने झूठ बोला.

नवंबर, 2017 में पुलिस को इसकी खबर दी गयी और मिस्त्री को गिरफ्तार किया गया.  पूछताछ के दौरान मिस्त्री ने माना कि उसे घातक रुप से बीमार नहीं थी. मेट पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार जांच में सामने आया कि उसके विस्तारित परिवार के 20 सदस्यों और अन्य आठ लोगों ने चंदा दिया.  इस तरह 2,53,122 पौंड जुटाये गये थे.  पिछले साल गिरफ्तारी के बाद 36 वर्षीय मिस्त्री ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया. मिस्त्री ने अपने पति को संदेश भेजेने के लिए एक फर्जी डॉक्टर का फर्जी ऑनलाइन एकाउंट बनाया और उसने सोशल मीडिया पर भी ‘स्टैंडअप टू कैंसर’ संदेश पोस्ट किया.  उसे जो पैसे मिले उससे उसने फैंसी डिजायनर हैंडबैग खरीदे. उसने अन्य तरीके से कई लोगों को भी ठगा. 

Related Articles

Back to top button