राज्य

चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा की पुस्तक ‘बिहार बढ़कर रहेगा’

चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा की पुस्तक ‘बिहार बढ़कर रहेगा’ का विमोचन करते बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी का फोटो राजनीतिक गलियारे में तूूल पकड़ता जा रहा है। इसे लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने जबर्दस्त हमला किया है। तेजस्वी ने सुशील मोदी को ​दोहरे चरित्रवाले बिना हड्डी का नेता बताया है। इसे लेकर मंगलवार को उन्होंने ट्वीट किया है और इसमें लगे हाथ सृजन के बहाने नीतीश कुमार पर तंज कसा है।  

तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, ‘पूर्व सीएम पंडित जगन्नाथ मिश्रा जी कथित चारा घोटाले में कथित सज़ायाफ्ता हैं। मेदांता में इलाज के लिए जमानत पर हैं। घोटाले के याचिकाकर्ता सुशील मोदी सजायाफ्ता मिश्रा जी की पुस्तक “बिहार बढ़कर रहेगा” का विमोचन कर रहे हैं। मिश्रा जी का बेटा बीजेपी का उपाध्यक्ष है, इसलिए मिश्रा जी का सब माफ है। सब छूट है।’

इसी ट्वीट में नेता प्रतिपक्ष ने आगे लिखा है- ‘सुशील मोदी जैसे दोहरेपन वाले बिना हड्डी के नेता मिश्रा जी की पुस्तक का प्रमोशन भी करेंगे और घोटाले में उन्हें गाली भी देंगे। बाक़ी सब दलित-पिछड़े चोर है। है ना? इसलिए कहता हूं बीजेपी जैसी भ्रष्ट और जातिवादी पार्टी में जाने से कोई भी राजा हरीशचंद्र बन सकता है। जैसे हमारे सृजन चोर चाचा जी…’ 

बता दें कि पटना के होटल मौर्या में सोमवार को ललित नारायण मिश्र कॉलेज ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट, मुजफ्फरपुर की ओर से कार्यक्रम को आयोजन था। इसी कार्यक्रम में पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा की पुस्तक ‘बिहार बढ़कर रहेगा’ का विमोचन था। विमोचान समारोह में डिप्टी सीएम सुशील मोदी भी मौजूद थे और उन्होंने पुस्तक की प्रशंसा भी की। इसी को लेकर मंगलवार को तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर उन पर हमला किया है। 

दरअसल सुशील मोदी शुरू से चारा घोटाला की आवाज उठाते रहे हैं। इतना ही नहीं, आइआरसीटी मामले में भी उन्होंने मुखर होकर लालू परिवार को घेरा था। इसके साथ ही पिछले दिनों लालू प्रसाद यादव पर सुशील मोदी ने किताब भी लिखी थी। इसके पहले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मॉब लिंचिंग को लेकर सीएम नीतीश कुमार पर दिए गए बयान को लेकर तंज कसा। मंगलवार को ही किए गए अपने ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा, ‘मॉब लिंचिंग पर बोले सीएम नीतीश कुमार.. मॉब में हिंसा करने वाला कायर होता है। और मॉब लिंचिंग व हिंसा नहीं रोक सकने वाला शासक एवं 11 करोड़ लोगों के जनादेश के साथ हिंसा करने वाला बहादुर होता है। जय हो।’

Related Articles

Back to top button