देश

लोग सोशल मीडिया पर तंज कस रहे हैं कि आप का नया घोषणा पत्र है कि भगवंत दारू नहीं पीएंगे

आम आदमी पार्टी की बरनाला रैली में सांसद भगवंत मान ने अपनी मां की मौजूदगी में अब शराब नहीं पीने का ऐलान किया था। आप के राष्‍ट्रीय संयोजक और दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद ने उनकी जमकर तारीफ की थी अौर इसे बड़ी कुर्बानी करार दिया था। अब इसको लेकर आप और भगवंत लोगों का निशाना बन रहे हैं और सोशल मीडिया पर जमकर तंज किया जा रहा है। लोग लिख रहे हैं-‘ आम आदमी पार्टी का नया घोषणापत्र, भगंवम मान अब दारू़ नहीं पीएंगे।

बता दें कि अपने कलाकार जीवल में ‘झंडा अमली’ नाम के कैरेक्टर से मशहूर हुए भगवंत मान ने शराब कही लत के कारध निशाने पर रहे हैं1 अब उन्‍होंने कहा कि अब श्‍ाराब नहीं पिएंगे। यह संकल्प उन्होंने नए साल पर लिया है। इसका एेलान उन्होंने आम आदमी पार्टी की बरनाला रैली में रविवार को मां की मौजूदगी में किया था। इस मौके पर पार्टी के कन्वीनर और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल भी मौजूद थे। भगवंत मान अब ‘कहां छूटती है ये काफिर मुंह की लगी हुई’ कहावत को झुठला देंगे। उनके ऐसे दावे के बाद सोशल मीडिया पर आम लोगों व विरोधी पार्टियों के नेताओं ने उन्हें निशाने पर लिया है।

शराब छोड़ने की घोषणा के बाद सोशल मीडिया पर निशाने पर आए आप सांसद लोगों ने जमकर उड़ाया मजाक

आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता कपिल मिश्रा ने लिखा है, ‘भगवंत मान दारू नहीं पीएगा, ये घोषणा पत्र में लिखा जाएगा।’ गौरतलब है कि अरविंद केजरीवाल भगवंत मान की इस घोषणा को बड़ी कुर्बानी बताया था। वहीं आप नेता मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर लिखा, ‘बरनाला रैली में भगवंत मान का एलान- 1 जनवरी से उन्होंने संकल्प लिया है कि वे अब शराब को हाथ नहीं लगाएंगे, उन्होंने मंच पर अपनी माताजी और पंजाब की जनता के सामने वादा किया कि अपना तन मन धन पंजाब की सेवा के लिए लगाएंगे।’ इसके बाद लोगों ने मान को ट्रोल करना शुरू कर दिया।

सबसे बड़ी कुर्बानी: मोदी ने चाय की टपरी छोड़ी, भगवंत मान ने शराब

सचिन सिंगला नाम के एक ट्विटर हैंडलर ने लिखा है, ‘मोदी जी जब एडिट करके इतिहास लिखवाएंगे तो दो तरह की कुर्बानियां ही याद रखी जाएंगी। पहली मोदी जी ने देश हित में चाय की टपरी छोड़ी और दूसरी भगवंत मान ने शराब छोड़ दी। बाकी सारे स्वतंत्रता आंदोलन और कुर्बानियां मिथ्या हैं।’

उधारी ज्यादा हो गई थी इसलिए छोड़ी

फेकिंग न्यूज नाम के ट्विटर हैंडल ने लिखा, ‘मान ने दारू इसलिए नहीं छोड़ी कि इससे लीवर खराब होता है, बल्कि इसलिए छोड़ी कि ठेके में ‘उधारीÓ बहुत ज्यादा हो गई थी।

पांच साल की सबसे बड़ी उपलब्धि

एक ट्विटर हैंडलर ने लिखा, ‘यह आप की पांच साल की सबसे बड़ी उपलब्धि है कि एक सांसद ने शराब छोड़ दी।’ वहीं, सत्येंद्र पांडे नाम से किसी ने लिखा, ‘ये देश सदियों तक भगवंत मान के शराब छोडऩे के बलिदान को याद रखेगा।’

—-

इधर जमकर सियासत….

शराब क्या, मान ने बहुत कुछ छोड़ा, लेकिन कुछ घंटों के लिए: सुखबीर

अजनाला में  पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर बादल ने मान के शराब छोड़ने के ऐलान पर कहा कि भगवंत मान तो कई बार अन्य लोगों से प्रेरित होकर बहुत कुछ छोड़ चुके हैं, ‘लेकिन कुछ घंटों के लिए।’ हैरानी की बात है कि अगर भगवंत मान ने शराब छोड़ी भी है तो उसके परिजनों ने अभी तक इस बात की पुष्टि क्यों नहीं की?

इतनी बड़ी कुर्बानी तो मान ही दे सकते हैं: रंधावा

पंजाब के सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा ‘सुपर एमपी’ भगवंत मान ने शराब छोड़ कर जो कुर्बानी दी है। इतनी बड़ी कुर्बानी केवल मान ही दे सकते है। यह कुर्बानी इतिहास के पन्नों में दर्ज होगी। चुनाव नजदीक होने के कारण अब भगवंत मान को शराब छोडऩे का ख्याल आ गया है। शराब छोडऩी है तो पंजाब सरकार की तरफ से विशेष तौर पर खुले क्लीनिक का सहारा ले सकते है। पंजाब सरकार उसका पूरा ख्याल रखेगी। आप व केजरीवाल को मुबारकबाद।

—–

संसद में हुई थी शिकायत

गौरतलब है कि आप के निलंबित सांसद हरिंदर सिंह खालसा ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से शिकायत की थी कि उन्हें भगवंत मान के बगल में बैठकर शराब की बदबू आती है। इसलिए उनकी सीट बदली जाए। वहीं, एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी भगवंत मान पर तंज कसा था। इसके अलावा पंजाब में विधानसभा चुनाव के दौरान उनका नशे में कथित वीडियो वायरल हुआ था।

Related Articles

Back to top button