राज्य

चौटाला परिवार को लेकर नया दावा, दादी वही बोली-जो पोते ने बुलवाया

 राजनीति में कोई किसी का सगा नहीं होता। जींद के रण में यह बात पूरी तरह से साबित हो गई। पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के परिवार की जंग इस कदर बढ़ी कि सुलह की तमाम संभावनाएं खत्म हो गई हैं। जींद के रण ने इस जंग को न केवल हवा दी, बल्कि दादा-पोतों और भाई-भाई के बीच दूरियां बढ़ा दीं। दो दिन पहले दादी स्‍नेहलता चौटाला द्वारा पोतों दुष्‍यंत आैर दिग्विजय चौटाला को भला-बुरा कहने के वीडियो को लेकर बड़े खुलासे का दावा किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि वीडियो में स्‍नेहलता ने जो कुछ कहा है वह उनसे अभय चौटाला के बेटे कर्ण चौटाला ने बुलवाया है। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हो रही है और इसे खारिज किया जा रहा है।

इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला और उनकी पत्नी स्नेहलता की दो अलग-अलग वीडियो वायरल होने के बाद बुधवार को एक ऐसा वीडियो सामने आया, जिसमें राजनीति के गिरते स्तर को महसूस किया जा सकता है। एक वीडियो में दावा किया जा रहा हे कि पहले वाले वीडियो में दादी स्नेहलता वही बोल रही हैं, जो उनके पोते बुलवा रहे हैं। पोते की आवाज अभय चौटाला के बेटे कर्ण चौटाला की बताई जा रही है। हालांकि इस वीडियो पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं।

जींद के रण में चौटाला परिवार की राजनीतिक साख दांव पर लगी है। इनेलो के दोफाड़ होने के बाद जननायक जनता पार्टी बना चुके डॉ. अजय सिंह चौटाला और सांसद दुष्यंत चौटाला ने दिग्विजय चौटाला को जींद के चुनाव में उतारा है। चौटाला के छोटे बेटे अभय चौटाला इनेलो की कमान संभाल रहे हैं। उनकी पार्टी के उम्मीदवार उम्मेद सिंह रेढू हैं।

बता दें कि सोमवार को इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला को रेढू के हक में प्रचार करने की बात कही जा रही थी और इसके लिए उन्‍होंने तिहाड़ जेल से फरलो ली थी, लेकिन आम आदमी पार्टी द्वारा जननायक जनता पार्टी को समर्थन देने के बाद शाम को सूचना आई कि चौटाला की फरलो रद हो गई है।

चौटाला एलएनजेपी अस्पताल दिल्ली में उपचाराधीन थे। वहां से उन्हें तिहाड़ भेजते हुए जो वीडियो वायरल हुआ, उसमें चौटाला ने पोते दुष्यंत चौटाला को गद्दार तथा देशद्रोही तक कह डाला। उसी दिन गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में दाखिल ओमप्रकाश चौटाला की पत्नी स्नेहलता का वीडियो वायरल होता है, इसमें दादी अपने पोतों के लिए कह रही कि भगवान ऐसी औलाद किसी को न दे और दे तो होते ही रहें नहीं। दादा-दादी के दोनों वीडियो वायरल होने के बाद जींद के रण में उथल पुथल मच गई।

सांसद दुष्यंत चौटाला व दिग्विजय चौटाला ने कोई प्रतिक्रिया जाहिर नहीं की, लेकिन दादी के वीडियो का पर्दाफाश करने की बात जरूर कही। दो दिन बाद बुधवार को दादी का नया वीडियो वायरल हुआ, जिसमें कोई उनसे दुष्यंत व दिग्विजय के खिलाफ बुलवा रहा है। वीडियो के मुताबिक अस्पताल में संबंधित व्यक्ति के अलावा और भी कुछ आदमी हैं, जो दादी से बार-बार अपनी मर्जी के शब्द रिपीट करवा रहे हैं।

इस वीडियो को जननायक जनता पार्टी के समर्थकों ने सोशल मीडिया पर वायरल किया है। इससे पहले इनेलो समर्थकों ने ओमप्रकाश चौटाला के हाथ से लिखे उस पत्र को भी वायरल किया, जिसमें उन्होंने उम्मेद सिंह रेढू के लिए वोट मांगे हैं। अब हकीकत क्या है, यह तय करना जनता का काम है, लेकिन पूरे मामले में दावे-प्रतिदावे से संशय की स्थिति पैदा हो गई है।

Related Articles

Back to top button