Uncategorized

अमेरिका 2001 में तालिबान को सत्ता से बाहर करने के बाद उससे पहली बार इस तरह वार्ता कर रहा है

अमेरिका और तालिबान अफगानिस्तान में 17 साल से जारी संघर्ष को समाप्त करने के लिये सोमवार को कतर में फिर से मुलाकात करेंगे.

कतर की राजधानी दोहा में पिछले महीने दोनों पक्षों के बीच हुई बातचीत में तालिबान ने यह वादा किया था कि वह अफगानिस्तान को अतंरराष्ट्रीय आतंकवादी समूहों की सुरक्षित पनाहगाह नहीं बनने देगा. तालिबान के इस वादे से अफगानिस्तान में शांति के लिये चल रही वार्ता में कामयाबी मिलने की उम्मीद बनी थी.

अमेरिका 2001 में तालिबान को सत्ता से बाहर करने के बाद उससे पहली बार इस तरह वार्ता कर रहा है. हालांकि अब तक अमेरिका की अफगानिस्तान से वापसी और संघर्षविराम को लेकर कोई समझौता नहीं हो पाया है.

किसी भी पक्ष ने न तो यह बताया है कि ये बातचीत कब तक चलने की उम्मीद है और न ही इस बात की जानकारी दी है कि इस बार किस पहलू पर चर्चा की जाएगी.

Related Articles

Back to top button