राज्य

नेशनल यूथ पार्लियामेंट फेस्‍टिवल दिल्‍ली के विज्ञान भवन में मनाया जा रहा है

नेशनल यूथ पार्लियामेंट फेस्‍टिवल दिल्‍ली के विज्ञान भवन में मनाया जा रहा है। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन राठौर भी हैं।  बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने मन की बात कार्यक्रम में 31 दिसंबर, 2017 को इस तरह के कार्यक्रम की चर्चा की थी ।

पीएम ने कहा था कि नेशनल यूथ पार्लियामेंट फेस्‍टिवल तरह के कार्यक्रम होने चाहिए। नेशनल यूथ पार्ल्यामेंट फेस्टिवल 2019 में विजेताओं को पीएम मोदी को हाथों अवॉर्ड दिया गया। इसके बाद कार्यक्रम की शुरुआत हुई।

इस कार्यक्रम में पीएम ने कहा कि सभी पार्टी नेशनल यूथ पार्लियामेंट फेस्‍टिवल में कुछ नया करने का आइडिया देते हैं तो यह एक बेहतर मंच बन जाएगा, जो भविष्‍य में काम आएगा। पीएम ने कहा मेरे मन में एक बड़ा सपना है जिसका एक हिस्‍सा यहां बन रहा है। पीएम ने कहा बिनोवा भावे कहते थे कि अ-सरकारी चीजें असरकारी होती हैं। उम्मीद है आप युवा परोसी हुई चीज नहीं ग्रहण करते होंगे, बल्कि खुद फैक्ट ढूंढते होंगे। पीएम ने युवाओं के सपने को लेकर कहा कि उन्‍हें उड़ने देना चाहिए, क्योंकि युवाओं पर अतीत का बोझ नहीं होता। युवा भविष्य की चुनौतियों से निपटने में ज्यादा सक्षम होता है। पीएम ने युवाओं में जोश भरने के लिए कविता की दो लाइनें पढ़ी कि ‘उसे गुमां है कि मेरी उड़ान कुछ कम है, मुझे यकीं है ये आसमां कुछ कम है।’

उन्‍होंने कहा कि आज मेरे सामने न्यू इंडिया की नई तस्वीर है। कभी कभी छोटे से व्‍यक्‍ति का दिया हुआ आइडिया भी हम जैसे लोगों के लिए बड़ा काम आता है। महात्‍मा गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि महात्मा गांधी से बड़ा कम्युनिकेटर पिछली शताब्दी में नहीं हुआ। उस दौर में व्‍हाट्सएप भी नहीं था। पीएम ने सर्जिकल स्ट्राइक 2 (surgical strike 2) की तरफ इशारा करते हुए कहा कि सब चीजें पहले नहीं बताता हूं, धीरे-धीरे खोलता हूं।

हमारे मुंह से निकला हुआ शब्द सही जगह पर तीर की तरह जाना चाहिए। हमारी वाणी इंप्रेसिव हो या न हो, लेकिन इंस्पायरिंग जरूर होनी चाहिए। हमारे देश और समाज में अगर ऐसी युवा पीढ़ी तैयार होती है जो समाज के मुद्दों पर सही तरीके से सोचकर समाज को अपनी बात बताते हैं तो बहुत बड़ी भूमिका अदा कर सकते हैं। इस कार्यक्रम के सुझावों को विस्तार देकर देश में चल रही योजनाओं पर सुधार किया जा सकता है। 

पीएम ने कहा 16वीं लोकसभा में एवरेज प्रॉडक्टिविटी 85 प्रतिशत रही। करीब 205 बिल पास हुए। 15वीं लोकसभा की तुलना में 16वीं लोकसभा ने 20 प्रतिशत ज्यादा काम किया। लेकिन मैं इससे संतुष्ट नहीं हूं। अगर मोदी है तो ये 200 प्रतिशत होना चाहिए। युवाओं के सपनों को रोकना नहीं चाहिए, उन्हें उन्मुक्त गगन में उड़ने देना चाहिए।

पीएम ने युवाओं के लिए द्वारका प्रसाद द्विवेदी की एक रचना को कोट करते हुए जोश भरा। उन्‍होंने कहा कि
‘इतने ऊंचे उठो कि जितना उठा गगन है,
इतने मौलिक बनो कि जितना मौलिक सृजन हैं।’
युवा संसद में पुरस्कार पाने वाली तीनों युवतियों को पीएम ने बधाई देते हुए कहा कि तीनों बेटियों को लाख- लाख बधाइयां। तीनों बेटियों ने मैदान मार लिया। पीएम ने युवाओं से कहा कि वो दिन दूर नहीं होगा कि आपलोगों की ओर से मांग आएगी कि तीन पुरस्कार देते हैं, तो पुरुषों के लिए एक रिजर्वेशन दिया जाए।

Related Articles

Back to top button