Uncategorized

पाक सेना द्वारा पकड़े गए भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वाघा अटारी बॉर्डर के माध्‍यम से वतन वापस आएंगे

 भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन आज पाकिस्‍तानी सेना के कब्‍जे से मुक्‍त होकर वाघा अटारी बॉर्डर के माध्‍यम से वतन वापस आएंगे। उनके दोपहर बाद यहां पहुंचने की उम्‍मीद है। पहले उनके दोपहर बाद तीन से चार बजे तक सौंपे जाने की संभावना है। बताया जाता है कि उनको वायुसेना के अधिकारियों की एक टीम रिसीव करेगी। यह टीम अटारी बॉर्डर पर पहुंच गई है। अभिनंदन माता-पिता व अन्‍य परिजन भी अटारी बॉर्डर पर पहुंच गए हैं। इसके साथ ही बताया जाता है कि आज शाम अटारी वाघा बार्डर पर रिट्रीट सेरेमनी नहीं होगी। दूसरी ओर अभी इसकी पुष्टि नहीं हो रही है।

अभिनंदन की माता और पिता अटारी वाघा बॉर्डर पर पहुंचे, तिरंगा लहराते हुए नाच-गा रहे हैं लोग

विंग कमांडर अभिनंदन के पिता एयर मार्शल एस. वर्तमान (सेवानिवृत्त) और मां शोभा वर्तमान (डॉक्टर) थोड़ी देर पहले अन्‍य परिजनों के साथ वाघा अटारी बॉर्डर पर पहुंचे। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह विंग कमांडर अभिनंदन को अटारी बॉर्डर पर इस दौरान मौजूद नहीं रहेंगे।

कैप्‍टन अमरिंदर प्रोटोकॉल के कारण नहीं जाएंगे अटारी बॉर्डर

कैप्‍टन अमरिंदर ने कहा कि वह बहादुर अभिनंदन के स्‍वागत के लिए अटारी बॉर्डर पर मौजूद रहना चाहता था, लेकिन प्रोटोकॉल संबंधी मुद्दे के कारण नहीं जा पाएंगे। बता दें कि अमरिंदर ने पहले अटारी पर विंग कमांडर अभिनंदन का स्‍वागत करने की इच्‍छा जताई थी और इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट भी किया था।

दूसरी ओर अटारी बॉर्डर पर अभिनंदन की वापसी को लेकर सुबह से ही गहमागहमी है। काफी संख्‍या में लोग राष्‍ट्रीय ध्‍वज लेकर बॉर्डर के पास खड़े हैं। लोग देशभक्ति के गीत गा रहे हैं और राष्‍ट्रीय ध्‍वज लहराते हुए नाच रहे हैं। बॉर्डर क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा है। मीडिया और आम लोगों को वाघा बॉर्डर से एक किलोमीटर पहले ही पास रोक दिया गया है। किसी को भी अंदर जाने के लिए अनुमति नहीं दी गई है। इस जगह पर काफी संख्या में पुलिस और सेना के जवान तैनात किए गए हैं। विंग कमांडर अभिनंदन के इंतजार में लोगों का उत्साह और जोश बढ़ता जा रहा है। आइसीपी अटारी पर पहुंचे लोग देशभक्ति के गीत गाकर झूम रहे हैं।

लोग बोले- आतंकियों के लिए अपने 21 करोड़ नागरिकों की जान को खतरे में डाल रहा पाकिस्‍तान

विंग कमांडेंट अभिनंदन के स्वागत के लिए पहुंचे लोगों का कहना है कि भारतीय सेना ने पाकिस्‍तान को सही सबक सिखाया है। अनुज भंडारी सहित कई लोगों ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों के लिए अपने 21 करोड़ नागरिकों की जान खतरे में डाल रहा है। कूटनीतिक प्रयासों से भारत की बड़ी जीत हुई है।

विंग कमांडर अभिनंदन का स्‍वागत करने दूरदराज के स्‍थानों से भी लाेग पहुंचे हैं। राजस्थान के श्रीगंगानगर से आए उदय पाल, कृष्ण सहारन ने कहा कि वह 400 किलोमीटर का सफर कर अभिनंदन का स्वागत करने अटारी पहुंचे हैं। अभिनंदन हमारे देश का गौरव बन गए हैं।

सुबह से ही तिरंगा लेकर स्‍वागत के लिए अटारी बॉर्डर पर काफी संख्‍या में खड़े हैं लोग, कड़ी सुरक्षा

अमृतसर के डिप्टी कमिश्नर शिव दुलार सिंह ढिल्लों ने कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन को रिसीव करने के लिए एयरफोर्स के अधिकारियों की टीम आई हुई है। यह पूछे जाने पर कि क्या मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह उन्हें रिसीव करने के लिए पहुंचेंगे तो  ढिल्‍लों ने कहा कि एयर फोर्स में रिसीव करने का एक सेट प्रोटोकाल है। उसके मुताबिक ही अभिनंदन को रिसीव किया जाएगा। सीमा पर सुबह से ही काफी संख्‍या में लोग पहुंचे गए और उनका आना जारी है। बीएसएफ के अलावा पंजाब पुलिस भी पूरे इलाके में सुरक्षा के लिए तैनात है।

देशभक्ति के जोश व जूनून से गूंजा पूरा वाघा-अटारी क्षेत्र

बॉर्डर पर पूरा माहौल देशभक्तिमय हो गया है। लोग हाथों में राष्‍ट्रीय ध्‍वज लेकर भारत माता की जय और सेना के समर्थन में घोष कर रहे हैं। ढोल की थाप पर लोग तिरंगे के संग नाच-गा रहे हैं। लोगाें ने फूलों की मालाएं ले रखी है और विंग कमांडर अभिनंदन के स्‍वागत के लिए पलक पांवड़े बिछा रखे हैं। लोग ‘हाउज द जोश’ का नारा भी लगा रहे हैं। लोगों के घोष से पाकिस्‍तान के सीमांत क्षेत्र की गूंज रहे हैं। चारों ओर देशभक्ति का जोश और जूनून नजर आ रहा है।

बता दें कि विंग कमांडर अभिनंदन बुधवार को अपने मिग 21 विमान से पाकिस्‍तान के लड़ाकू विमान एफ 16 को खदेड़ते हुए गुलाम कश्‍मीर के अंदर चले गए थे। इसी दौरान उनका विमान क्रैश हो गया और वह पैराशूट से नीचे उतर आए, लेकिन पाकिस्‍तानी सेना की पकड़ में आ गए। इसके बाद भारत के दबाव के कारण पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को वीरवार को ऐलान किया कि अ‍भिनंदन को शुक्रवार को रिहा कर दिया जाएगा।

अटारी बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ के जवान।

विंग कमांडर अभिनंदन का अटारी बॉर्डर पर स्‍वागत करने के लिए सुबह से ही काफी संख्‍या में लोग पहुंच रहे हैं। लोगों ने हाथों में राष्‍ट्रीय ध्‍वज ले रखा है। अभिनंदन की वापसी के मद्देनजर पूरे बॉर्डर क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा की गई है। बीएसएफ के जवान पूरे क्षेत्र में मुस्‍तैदी से तैनात हैं।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह वीरवार को सीमावर्ती जिलों के गांवों का दौरा करने के लिए अमृतसर पहुंचे। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट के जरिए आग्रह किया कि वह अभिनंदन को भारत-पाक सीमा पर रिसीव करने के लिए जाएंगे।

वीरवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने ट्वीट में कहा, नरेंद्र मोदी जी मैं पंजाब के सीमावर्ती इलाकों के दौरे पर हूं और मुझे पता चला है कि पाकिस्तान सरकार ने अभिनंदन वर्तमान को वाघा के रास्ते रिलीज करने का फैसला किया है। यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि मैं उन्हें रिसीव करना चाहूंगा, क्योंकि उनके पिता व मैं एनडीए में रहे हैं।

अटारी बॉर्डर पर विंग कमांडर अभिनंदन के स्‍वागत के लिए खड़े लोग।

मुख्यमंत्री ने बाद में कहा कि यह उनकी दिली इच्छा है कि वह इस अवसर का हिस्सा बनें। इससे पहले मुख्यमंत्री ने जालंधर में मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की ओर से उन्हें रिलीज करने का फैसला स्वागत योग्य है। इससे दोनों मुल्कों की सरहद पर बने तनाव को कम करने का मौका मिलेगा।

अटारी बॉर्डर पर तैनात पंजाब पुलिस के जवान।

Related Articles

Back to top button