Uncategorized

ट्रम्प और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन की हनोई में शिखर वार्ता होने के तुरंत बाद यह बात सामने आई

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प उत्तर कोरिया के साथ संबंध बेहतर करने के लिए दक्षिण कोरिया के साथ प्रति वर्ष व्यापक स्तर पर होने वाले सैन्य अभ्यास को ‘‘बंद’’ करने की योजना बना रहे हैं. नाम उजागर ना करने की शर्त पर एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. ट्रम्प और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन की हनोई में शिखर वार्ता होने के तुरंत बाद यह बात सामने आई है. हालांकि यह वार्ता बेनतीजा रही, लेकिन दोनों पक्षों ने कहा है कि वह बातचीत जारी रखेंगे.

अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने की खबर की पुष्टि

‘एनबीसी न्यूज’ ने सबसे पहले ‘फोल ईगल’ अभ्यास बंद किए जाने की खबर दो अमेरिकी रक्षा आधिकारियों के हवाले से दी थी. ‘फोल ईगल’ अभ्यास अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच किए जाने वाला सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास है, जो वसंत में किया जाता है. इससे उत्तर कोरिया हमेशा नाराज रहा है तथा इसे घुसपैठ की तैयारी बताते हुए इसकी निंदा करता रहा है. अभी तक इसमें 2,00,000 दक्षिण कोरियाई सैनिकों और 3,00,000 अमेरिकी सैनिकों ने हिस्सा लिया है.

पिछले साल हुई थी ट्रंप और किम की शिखर वार्ता

ट्रम्प और किम के बीच पिछले साल सिंगापुर में हुई शिखर वार्ता के बाद से ही अमेरिका और सियोल ने कई संयुक्त सैन्य अभ्यास के स्तर को कम किया है अथवा बंद किया है. अमेरिकी बमवर्षक भी अब दक्षिण कोरिया पर उड़ान नहीं भर रहे हैं. ट्रम्प इन अभ्यासों को लगातार मंहगा बताते आए हैं.

‘एनबीसी‘ की खबर में कहा गया था कि इसके स्थान पर वार्षिक “छोटा एवं मिशन-विशिष्ट प्रशिक्षण’’ किया जा सकता है. रिपब्लिकन राष्ट्रपति ने हालांकि दक्षिण कोरिया में तैनात 28,500 अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने से इनकार कर दिया है, जिन्हें उसके परमाणु सम्पन्न पड़ोसी देश से बचाने के लिए वहां तैनात किया गया है.गौरतलब है कि उत्तर कोरिया ने 1950 में दक्षिण कोरिया पर आक्रमण किया था.

Related Articles

Back to top button