Uncategorized

रांची में बोले राहुल गांधी, भाजपा का झूठ- सबसे मजबूत

कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि देश का चौकीदार हर भाषण में झूठ बोलता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सारे चौकीदारों की मान-मर्यादा का हनन किया है। यह चौकीदार चोर है। जिसने भारतीय वायुसेना से छीनकर अपने दोस्‍त अनिल अंबानी की जेब में 30हजार करोड़ रुपये चुपके से पहुंचा दिए हैं। इनका झूठ सबसे मजबूत है। राहुल रांची के मोरहाबादी मैदान में परिवर्तन उलगुलान रैली को संबोधित कर रहे हैं। राहुल ने कहा कि अच्छे दिन का नारा बदल गया है….अब कहा जा रहा चौकीदार चोर है। सारे चौकीदारों को बदनाम कर दिया। चौकीदार की बात होती है तो नरेंद्र मोदी की होती है। 30 हजार करोड़ चोरी कर अनिल अम्बानी की जेब में डाला। वायुसेना से छीनकर..इससे बड़ी शर्म की बात नहीं हो सकती। मुख्‍यमंत्री रघुवर दास पर निशाना साधते हुए कहा कि झारखंड का चौकीदार आदिवासियों की जमीन चोरी करता है। बिना किसान को पूछे जमीन उद्योगपतियों को दे रहा है।

इस बीच पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री आरपीएन सिंह ने अपने संबाेधन में कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी की सरकार देश में तानाशाही कर रही है। इस तानाशाह सरकार के खिलाफ कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने उलगुलान किया है। जैसे भगवान बिरसा मुंडा ने अंग्रेजों को देश से भगाया था, हम सब भाजपा को भगाएंगे। रैली में हाथों में बैनर, तख्तियां आदि लेकर नारेबाजी करते हुए अपने नेता के स्‍वागत में शनिवार को सुबह से ही यहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं का हुजूम अपने चहेते नेता को सुनने के लिए जुटी है। वे विशेष विमान से करीब दो बजे रांची एयरपोर्ट पहुंचे।

इसके बाद उन्‍होंने बिरसा चौक पर भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर माल्‍यार्पण भी किया। उन्‍होंने मोरहाबादी पहुंचकर कार्यकर्ताओं का हिलाकर अभिवादन किया। इस बीच मंच से लोगों को संबाेधित करते हुए कांग्रेस नेता इरफान अंसारी ने यहां भी गोड्डा सीट की रट लगाए रखी। यह वही सीट है जिसको लेकर झारखंड में विपक्षी महागठबंधन को लेकर झारखंड विकास मोर्चा के साथ कांग्रेस का हाल के दिनों में विवाद सामने आया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ अजय कुमार ने मंच से अपने संबोधन में कहा कि भाजपा को मेरा झूठ सबसे मजबूत नारा देना चाहिए। वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता सुबोधकांत सहाय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और झारखंड के मुख्‍यमंत्री रघुवर दास पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र में फेंकू तो झारखंड में महा फेकू की सरकार चल रही है। कांग्रेस नेता आलमगीर आलम ने परिवर्तन रैली के मंच से किसानों के ऋण माफ करने की बात उठाई।

झामुमो के कार्यकारी अध्‍यक्ष हेमंत सोरेन के प्रतिनिधि स्टीफन मरांडी ने कहा कि झारखंड आंदोलन की जमीन है। यहां के लोग अंग्रेजों से लंबी लड़ाई लड़ चुके हैं। सीएनटी एक्ट में संशोधन कर यहां के लोगों को छेड़ा गया है। यह रैली बीजेपी के खिलाफ मुहिम की शुरुआत होगी। उन्‍होंने आशा जताई कि हमारा गठबंधन सारे देश में मजबूत रहे। झारखंड विकास मोर्चा के अध्‍यक्ष बाबूलाल मरांडी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने, अपनी मुट्ठी में लेने का प्रयास किया है। उन्‍होंने कहा कि झारखंड परिवर्तन की दहलीज पर खड़ा है। भाजपा ने 2014 की घोषणाओं की ओर देखा नहीं। जो घोषणा नहीं कि वही 5 साल तक करते रहे। भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकना है। सारे विपक्षी दल मिलकर मोदी सरकार को उखाड़ फेंकें। राज्‍य की रघुवर सरकार ने स्कूल बंद किए और दारू की दुकानें खोल दीं।

रांची एयरपोर्ट पहुंचने पर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. अजय कुमार, पूर्व केंद्रीयमंत्री सुबोधकांत सहाय ने उनकी अगवानी की। राहुल गांधी का काफिला एयरपोर्ट से रवाना होकर बिरसा चौक के लिए निकला वहां पर बिरसा मुंडा की प्रतिमा को माल्यार्पण कर मोरहाबादी मैदान के लिए निकले। जहां उनका स्वागत पारंपरिक छऊ नृत्य के साथ किया गया।

कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी की झारखंड में यह पहली रैली है। साथ ही लोकसभा चुनावों को लेकर राहुल गांधी की यह महारैली विपक्षी महागठबंधन के औपचारिक एलान के बड़े प्‍लेटफार्म के तौर पर भी देखी जा रही है। अरसों बाद जल-जंगल जमीन की झारखंडी धरती पर सजने वाला यह बड़ा मंच जहां एक ओर से कांग्रेसियों को संजीवनी देकर जाएगा, वहीं दूसरी ओर लोकसभा चुनावों में दमदार प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री बनने की आस लगाए राहुल गांधी के लिए भी लांचिंग पैड से कम नहीं होगा।

इस बीच पहले से घोषित झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन रैली में मौजूद नहीं रहेंगे। हेमंत फिलहाल झामुमो की संघर्ष यात्रा के सिलसिले में संताल परगना के दौरे पर हैं। शनिवार को उनकी यात्रा का समापन साहिबगंज में शहीद सिदो-कान्हू की जन्मस्थली भोगनाडीह में होगा। ऐसे में झारखंड में विपक्षी महागठबंधन के लिए यह रैली कितनी खास होगी, इसका अंदाजा राहुल गांधी के संबोधन के बाद ही पता लग सकता है। रैली में मंच पर झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी, राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी, मासस के आनंद महतो समेत 60 नेता मौजूद रहेंगे। कांग्र्रेस के तमाम विधायकों समेत अधिकांश प्रमुख नेता मंच पर रहेंगे। इसके अलावा मंच के करीब तकरीबन 200 नेताओं के बैठने की व्यवस्था की गई है।

हेमंत ने जताया अफसोस
झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कांग्रेस नेताओं को राहुल गांधी की रैली से गैरमौजूदगी के बाबत अवगत करा दिया है। उन्होंने अफसोस जाहिर करते हुए कहा है कि पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों की वजह से वे रैली में उपस्थित नहीं हो पा रहे हैं। हालांकि संभव है कि रैली में उपस्थिति दर्शाने के लिए झामुमो किसी नेता को अधिकृत करे।

दो घंटे मंच पर रहेंगे राहुल गांधी
राहुल गांधी मंच पर लगभग दो घंटे रहेंगे। उनका भाषण तकरीबन 50 मिनट का होगा। राहुल गांधी की मौजूदगी में बाबूलाल मरांडी, आरपीएन सिंह, सुबोधकांत सहाय, डा. अजय कुमार और आलमगीर आलम को भाषण देने का मौका मिलेगा। राहुल गांधी सभास्थल पर लोगों से मुलाकात करेंगे। मंच के ठीक नीचे इसकी व्यवस्था की गई है। सभास्थल के अलावा उनका कहीं और कार्यक्रम नहीं है। यहां राहुल गांधी की मौजूदगी में कई लोगों के कांग्रेस में शामिल होने की संभावना है। राज्य के पूर्व पुलिस महानिदेशक राजीव कुमार, जमशेदपुर के सांसद रहे शैलेंद्र महतो और आभा महतो को भी औपचारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल किए जाने की संभावना है। दोनों नई दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात भी कर चुके हैं।

चप्पे-चप्पे पर तैनात है पुलिस
राहुल गांधी के आगमन व कार्यक्रम को लेकर पुलिस-प्रशासन ने सुरक्षा की व्‍यापक तैयारी की है। इसके मद्देनजर शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई है। कार्यक्रम की सुरक्षा में पांच आइपीएस, 15 डीएसपी सहित 1000 अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किए गए हैं। एक दर्जन से अधिक मजिस्ट्रेटों की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। सादे लिबास में भी पुलिस बलों को तैनात किया गया है। जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। मोरहाबादी मैदान में ड्रोन कैमरे से भी निगहबानी की जाएगी। सभी पुलिसकर्मियों को विशेष चौकसी का निर्देश दिया गया है। 

एयरपोर्ट के बाहर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था
रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गई है। वहां से मोरहाबादी तक जगह-जगह पुलिस बलों को लगाया गया है। एयरपोर्ट के बाहर पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई है। रांची के मोरहाबादी मैदान में स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की टीम मुस्‍तैदी से जमी है। एसपीजी राहुल गांधी की जनसभा की सुरक्षा को लेकर स्थानीय जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन के अधिकारियों व कांग्रेस के नेताओं से भी लगातार संपर्क में हैं।  

यहां पार्क करें वाहन
-बूटी रोड में साई अस्पताल के बगल में पहाड़ी मैदान – साहिबगंज, गोड्डा, पाकुड़, देवघर, जामताड़ा, धनबाद, गिरिडीह, बोकारो, कोडरमा, हजारीबाग और रामगढ़ से आने वाले वाहन। इन जिलों से आने वाले वाहन बूटी मोड़ होते हुए पहाड़ी मैदान पहुंचेगी। इसी प्रकार जमशेदपुर और सरायकेला की ओर से आने वाले वाहन भी बूटी मोड़ होते हुए पहाड़ी मैदान में पार्क करेगी। स्व. रामदयाल मुंडा फुटबॉल स्टेडियम -खूंटी, चाईबासा, गुमला, लोहरदग्गा, सिमडेगा, पलामू, लातेहार, चतरा और गढ़वा से आने वाले वाहनों के लिए पार्किंग की व्यवस्था। इसके साथ ही मोरहाबादी स्थित स्टेज के पीछे एवं ट्राइबल रिसर्च इंस्टीच्यूट के सामने भी पार्किंग की व्यवस्था की गई है।

24 साल से कांग्रेसी अजय राय ने दिया इस्‍तीफा
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के रांची आगमन से पहले 24 साल से पार्टी से जुड़े रहे कांग्रेस नेता सह इंटक के राष्ट्रीय सचिव अजय राय ने पार्टी की सक्रिय सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। अजय झारखंड असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेश महासचिव भी हैं। अजय राय ने कहा कि लगता है कि शीर्ष नेतृत्व भी अंधा और बहरा हो गया है। उन्होंने आरोप लगाया कि संगठन में सुबोधकांत सहाय, प्रदीप बलमुचू, फुरकान अंसारी जैसे बड़े नेताओं को सम्मान नहीं मिल रहा है। अजय राय ने प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार कोसाईबेरियन डक की उपाधि दी। उन पर मनमानी का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने पार्टी को इंटरटेनमेंट चैनल बना दिया है। कार्यकर्ताओं पर पुलिसिया रौब जमाते हैं। अजय राय ने प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार पर पैसे लेकर पद बांटने का आरोप भी लगाया। 

भाजपा ने राहुल गांधी से पूछे पांच सवाल
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रदेश भाजपा ने निशाने पर लिया है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने राहुल गांधी का स्वागत करते हुए उनसे पांच सवाल पूछे हैं। राहुल की रैली के लिए मोरहाबादी मैदान के चयन पर भी चुटकी ली है। कहा कि मोरहाबादी ग्राउंड की क्षमता 15000 से 20000 लोगों की ही है। कांग्रेस ने इतने छोटे स्थल का चुनाव करके पहले ही दिखा दिया है उसकी रैली में कितनी संख्या में लोग आएंगे। 

प्रदेश भाजपा के पांच सवाल :
– आपने मधु कोड़ा की सरकार को समर्थन दिया था। इस सरकार ने 4000 करोड़ से ज्यादा का घोटाला किया था। आज आप ने फिर से मधु कोड़ा को अपनी पार्टी में शामिल करा कर क्या फिर एक नए घोटाले को अंजाम देने की पृष्ठभूमि बनाई है?
– आपका और झारखंड मुक्ति मोर्चा का लेन-देन का पुराना रिश्ता रहा है। इस बार के गठबंधन बनाने के लिए आप दोनों के बीच क्या डील हुई है। 
– आपके पार्टी के तत्कालीन सांसद स्वर्गीय कार्तिक उरांव ने आरक्षण का दोहरा लाभ लेने वाले धर्मांतरित आदिवासियों को आरक्षण के लाभ से वंचित करने के लिए लोकसभा में एक बिल भी प्रस्तुत किया था। इस मुद्दे पर आपकी क्या राय है?
– आप के महागठबंधन में राजद भी शामिल है जिसने झारखंड के गठन का पुरजोर विरोध किया था तो फिर वह झारखंड के विकास के बारे में कैसे सोच सकता है।
– महागठबंधन का यहां नेता कौन होगा यह भी बता दें?

Related Articles

Back to top button