उत्तराखंड

वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि बाहर से महंगी दवा लिखने वाले डॉक्टरों पर कार्रवाई की जाएगी

वित्त एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि बाहर से महंगी दवा लिखने वाले डॉक्टरों पर कार्रवाई की जाएगी। इससे सरकार का मरीजों को सस्ता और सुलभ इलाज का संकल्प पूरा हो पाएगा। सरकार के आदेश के विपरीत यदि डॉक्टर बाहरी मेडिकल स्टोर से दवा लिख रहे हैं, तो यह गंभीर मामला है। ऐसे डॉक्टरों को चिह्न्ति कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

दून महिला अस्पताल में शनिवार को 161वें प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के उद्घाटन के मौके पर वित्त मंत्री प्रकाश पंत से लोगों ने डॉक्टरों पर बाहर से महंगी दवा लिखने के आरोप लगाए। मंत्री ने मामले को गंभीर बताते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल मार्गदर्शन में सभी अस्पतालों में जन औषधि केंद्र खोले गए हैं। ऐसे में यदि डॉक्टर बाहर की दवा लिख रहे हैं, तो इस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने मौके पर मौजूद डॉक्टरों से कहा कि इस तरह की शिकायतें नहीं आनी चाहिए। साथ ही मंत्री ने कहा कि डॉक्टर बाहर की दवा न लिखें, इस आदेश का कड़ाई से पालन कराएं। ताकि आम लोगों को सस्ता और सुलभ इलाज मिल सके। उन्होंने कहा कि जन औषधि केंद्रों में 800 से ज्यादा जेनरिक दवाएं और 154 सर्जिकल उपकरण उपलब्ध हैं। ऐसे में बाहर से दवा लिखना गलत है।

पेयजल निगमों का एकीकरण जल्द

मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि पेयजल के तीनों विभागों का एकीकरण का प्रस्ताव मांगा गया है। तीनों विभाग एक ही छत के नीचे आने से योजनाओं के संचालन से लेकर जनता को बेहतर सुविधाएं मिल सकेंगी। उन्होंने कहा कि इस साल सरकार इस पर निर्णय लेगी।

Related Articles

Back to top button