Uncategorized

पटना के गांधी मैदान में राजग की संकल्‍प रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुनने के लिए भारी भीड़ जुटी

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले आज पटना के गांधी मैदान में राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने ‘संकल्प’ रैली के जरिए अपनी ताकत दिखाई। इस ऐतिहासिक रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुनने के लिए भारी भीड़ जुटी। रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने बिहार में हो रहे  विकास के लिए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की सराहना की। साथ ही विपक्षी महागठबंधन पर तंज कसे। उन्‍होंने गरजते हुए कहा कि उनकी सरकार देश के दुश्‍मनों से चुन-चुनकर हिसाब लेगी। जनता को भी आश्‍वस्‍त किया कि उनका ‘चौकीदार’ चौकन्‍ना है। 
प्रधानमंत्री के पहले जनता दल यूनाइटेड (जदयू) सुप्रीमो व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संबोधित किया। इसके पहले लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) सुप्रीमो एवं केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने भी रैली को संबोधित किया। 

जनता से बोले पीएम मोदी बाेले: आश्‍वस्‍त रहिए, चौकीदार चौकन्‍ना है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत मात की जय के साथ अपना संबोधन शुरू किया। फिर मैथिली, मगही और भोजपुरी में जनता का अभिवादन किया। बिहार की विभूतियाें को भी याद किया। उन्‍होंने पुलवामा के शहीद संजय सिन्‍हा व रतन ठाकुर तथा शहीद पिंटू कुमार सहित बिहार के सभी शहीदों को नमन किया। 
प्रधानमंत्री ने कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्‍व में बिहार पुराने दौर से निकल रहा है। नीतीश कुमार व सुशील मोदी की जोड़ी ने बिहार में अद्भुत काम किया है। बिहार को अपराध व भ्रष्‍टाचार से मुक्‍त कराने का संकल्‍प लेकर उस बदतर हालात से बाहर निेकाला गया है। बिहार विकास की रफ्तार पकड़े, इसके लिए हमारा लागातार प्रयास रहा है। 
प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार बिहार में विकास की पंचधारा बहाने पर काम कर रही है। इसके अंतर्गत बच्‍चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, बुजगों को दवाई, किसानों को सिंचाई तथा जन-जन को सुनवाई के लिए काम हो रहे है। 
बिहार की चर्चा करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने नल से जल दिया। सात करोड़ गरीब बहनों को रसोई गैस कनेक्‍शन दिए गए हैं। अब पाइप से गैस भी दी जा रही है। 
पटना में मेट्रो का काम शुरू हो चुका है। पटना जंक्‍शन को आधुनिक बनाया जा रहा है। बिहार के विकास की गति में केंद्र का सहयोग रहा है। 
प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने लूट-खसोट, भ्रष्‍टाचार व बिचौलियों की संस्‍कृति पर रोक लगाई है। इससे प्रभावित लोग चौकीदार से परेशान हैं। उनमें गालियां देने का कम्‍पटीशन चल रहा है। लेकिन आप आश्‍वस्‍त रहिए, आपका चौकीदार पूरी तरह से चौकन्‍ना है। गरीबों के हक के फैसले डंके की चोट पर लिए गए और लिए जाएंगे।
प्रधानमंत्री बोले, हमने  सवर्ण गरीबों को 10 फीसद आरक्षण दिया है। यह आरक्षण बिना आरक्षण में छेड़छाड़ किए दिया गया है। 
उन्‍होंने कहा कि राजग सरकार के पहले पांच साल जरूरतों को पूरा किया, अब 1919 के बाद नई ऊंचाई पर पहुंचने का समय है। राजग ने मजबूत नींव तैयार की है। अब इस नींव पर समृद्ध, सशक्त भारत का निर्माण किया जाएगा। अगर मिलावट की सरकार होती तो कोई काम नहीं होता। 
विपक्षी महागठबंधन पर तंज कसते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि महामिलावट के घटक अपने लिए जीते हैं। जब हमारी सेनाएं आतंक से लड़ाई में लगी हैं, वे क्‍या कर रहे हैं? देश की सक्षम सेनाएं आतंक को कुचलने में लगी हैं। ऐसे समय में देश के भीतर ही कई लोग ऐसी बातें कर रहे हैं, जिससे पाकिस्तान में तालियां बज रही हैं।
जब आतंक की फैक्‍ट्री चलाने वालों के खिलाफ एक सुर में साथ देने की जरूरत थी, तब 21 विपक्षी पार्टियां केंद्र के खिलाफ निंदा प्रस्‍ताव पारित कर रहीं थीं। देश का कोई भी आदमी उन्‍हें माफ नहीं करोगा? अब इन्‍हीं दलों के नेता हमारे जवानों के पराक्रम पर संदेह कर रहे हैं। जैसे सर्जिकल स्‍ट्राइक का सबूत मांगा जा रहा था, अब वे हवाई हमले का भी सबूत मांगने लगे हैं। मैं कांग्रेेस व उसके सहयोगी दलों से जानना चाहता हूं कि वे हमारे वीर जवानों का मबानेबल तोड़ने में क्‍यों लगे हैं? उन्‍होंने कहा कि भारत अब वीर जवानों के बलिदान पर चुप नहीं बैठता है। चुन चुन का हिसाब लेता है।
नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत इस्लामिक देशों की बैठक में 50 साल बाद भारत शामिल हुआ। उन्‍होंने सवाल किया कि कांग्रेस की सरकार यह क्यों नहीं कर सकी? बताया कि सऊदी प्रिंस से भोजन पर कहा, भारत के मुसलमान तेजी से विकास कर रहे हैं, तो उन्होनें हज का कोटा दो लाख कर दिया।

नीतीश बोले: बिहार में खत्‍म कर दी लालटेन की जरूरत

संकल्‍प रैली में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने पुलवामा हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फैसलों की तारीफ करते हुए कहा कि भारत ने आतंकवाद का कड़ा जवाब दिया है। कहा कि आतंकियों के खिलाफ प्रधानमंत्री ने जो पहले की, उसके बाद आतंकवाद के खिलाफ सब लोग एकजुट हुए। कहा, मैं देश की सेना व सुरक्षा बलों काे सलाम करता हूं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में बिहार साथ है। आतंकवाद से कोई समझौता नहीं होगा। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में बिहार के भी कई जवान शहीद हुए हैं। नीतीश कुमार ने वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन की भी तारीफ की।
नीतीश कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीबों के लिए एक से बढ़कर एक योजना लाए हैं। इनसे बिहार को फायदा हो रहा है। उज्‍जवला योजना से गरीबों को गैस कनेक्‍शन मिला, साथ ही पर्यावरण भी सुधरा है। आपने प्रधानमंत्री किसान सम्‍मान निधि योजना भी शुरू की है। 
कहा, हमने सात निश्‍चय के तहत कई काम किए हैं। 2017-18 में बिहार की विकास दर देश में सर्वाधिक रहा। बिहार की विकास दर दहाई अंकों में हो गई है। 
मुख्‍यमंत्री बोले, बिहार सरकार ने सवर्ण आरक्षण को कानून बनाकर लागू किया। बिहार पहला ऐसा राज्य है, जहां पंचायती राज व्यवस्था और नगर निकायों में महिलाओं को 50 फीसद आरक्षण दिया गया है। मुख्‍यमंत्री की इस बात पर प्रधानमंत्री भी ताली बजाते दिखे। 
नीतीश कुमार ने किसी का नाम लिए बिना अपने अंदाज में राजद पर तंज कसा। कहा कि उन्‍होंने बिहार में घर-घर बिजली पहुंचा दी, जिस कारण अब लालटेन की जरुरत खत्म हो गई है। यह भी कहा कि राज्‍य में प्रेम और सद्भाव का माहौल है, लेकिन कुछ लोग कटुता फैलाना चाहते हैं। मुख्‍यमंत्री ने उनके चक्कर में नहीं पड़ने की अपील की। 

रामविलास पासवान बोले: पीएम मोदी के हाथों में देश सुरक्षित

संकल्‍प रैली को संबाेधित करते हुए रामविलास पासवान ने केंद्र सरकारी की उपलब्धयां गिनाईं तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ की। कहा उनका सीना 56 इंच नहीं, 156 इंच है। कहा कि पीएम मोदी के हाथों में देश सुरक्षित है। यह सरकार बुद्ध व युद्ध दोनों को लेकर चल रही है। राष्‍ट्रहित सर्वोपरि है। 
पासवान ने कहा कि जो काम 70 साल में नहीं हुए, वे पांच साल में हो गए। मोदी सरकार ने महंगाई को लगाम में रखा।सरकार ने गैस, बिजली व स्‍वास्‍थ्‍य का सपना पूरा किया। इस सरकार गरीब सवर्णों को आरक्षण का तोहफा दिया। 

रैली के पहले प्रधानमंत्री ने किया ये ट्वीट

रैली के पहले नई दिल्‍ली से रवाना होने के पूर्व प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर लोगों से इससे जुड़ने की अपील की थी। इसके बाद प्रधानमंत्री पटना पहुंचे। 

रैली में आकर्षण का केंद्र रहे ये नजारे

रैली में भारी भीड़ उमड़ी। लोग तरह-तरह के मास्‍क पहन व रूप बनाकर भी पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मास्‍क पहनकर आए लोग आकर्षण का केंद्र बने। 

प्रधानमंत्री का कार्यक्रम, एक नजर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 10.05 बजे दिल्ली एयरपोर्ट से विशेष विमान से पटना एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए। वे 11.40 बजे पटना एयरपोर्ट पर पहुंचे, जहां मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने उनका स्‍वागत किया। प्रधानमंत्री 11.45 बजे पटना एयरपोर्ट से सीधे पटना के गांधी मैदान में 12 बजे के बाद पहुंचे। उन्‍होंने 12.45 बजे अपना संबोधन शुरू किया। वे 1.55 बजे के बाद पटना एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए प्रस्‍थान कर गए। 

सुरक्षा के कड़े बंदोबस्‍त

रैली को लेकर पटना के गांधी मैदान में भारी सुरक्षा के इंतजाम किए गए। मैदान के बाहर भी चप्‍पे-चप्‍पे पर पुलिस तैनात रही। गांधी मैदान में अस्थायी थाना बनाया गया। इसमें एक इंस्पेक्टर समेत 20 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई थी। रैली की सुरक्षा में चार हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई। साथ ही पटना में हाई अलर्ट
जारी किया गया। बीते लोकसभा चुनाव के पहले पटना गांणी मैदान में ही नरेंद्र मोदी की रैली के पहले बम धमाके हुए थे। 

पांच लाख लोगों के आने का दावा

रैली की तैयारियों में राजग के तीनों घटक दल जी जान से जुटे रहे। शायद ही कोई गांव-टोला बचा हो, जहां के लोगों को रैली में आने का आमंत्रण न मिला हो। लोगों को लाने के लिए डेढ़ दर्जन रेलगाडिय़ों के अलावा छह हजार बसों का इंतजाम किया गया। राजधानी में आने वालों को असुविधा न हो, इसके लिए राजधानी से जोडऩे वाले सेतुओं को वन वे कर दिया गया। इन कोशिशों से इतर अपने स्‍तर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुनने आने वालों की संखया भी कम नहीं रही। राजग का दावा है कि रैली में पांच लाख लोगों की भीड़ जुटी। 

नौ साल बाद किसी चुनावी मंच पर साथ दिख मोदी-नीतीश 

नौ साल बाद यह पहला अवसर था जब प्रधानमंत्री की हैसियत से नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक ही मंच से राजग के पक्ष चुनाव की कोई चर्चा दिखे। दोनों किसी राजनीतिक रैली में नौ साल बाद एक साथ थे। 

राजग की रैली पर विपक्ष की भी नजर 

राजग की इस रैली पर विपक्षी दलों की भी नजर रही। इसमें जुटने वाली भीड़ के आधार पर अब विपक्ष अपनी ताकत को तौलेगा। इससे पहले फरवरी में इसी गांधी मैदान में कांग्रेस की रैली हुई थी, जिसमें पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी मुख्य वक्ता थे। महागठबंधन के अन्य दलों के नेताओं ने भी इसे संबोधित किया था।

Related Articles

Back to top button