उत्तर प्रदेश

कैबिनेट की बैठक में CM योगी ने दी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को मंजूरी

लखनऊ : प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा को प्रदेश में वर्ष 2019-20 में लागू किए जाने के फैसले को हरी झंडी दे दी गई। प्राकृतिक आपदाओं व रोके न जा सकने वाले अन्य जोखिमों जैसे रोग व कीट आदि से फसल नष्ट होने पर यह बीमा कवर उपलब्ध कराया जाता है।

इन फसलों पर पड़ेगा असर 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार खरीफ मौसम में धान, ज्वार, बाजरा, मक्का, उर्द, मूंग, अरहर, तिल, सोयाबीन, मूंगफली और रबी मौसम में गेहूं, जौ, चना, मटर, मसूर, लाही-रसरों, आलू और अलसी को ग्राम पंचायत स्तर पर बीमित किया जाएगा। प्रतिकूल मौसम होने पर बोआई न कर पाने पर बीमित कृषक को बीमित राशि के 25 प्रतिशत तक तत्काल क्षतिपूर्ति का प्रावधान है। 

इस तरह किया जाएगा आंकलन   

जानकारी के लिए बता दें कम वर्षा, बेमौसम व अधिक वर्षा, पाला, कम व अधिक तापमान, आर्द्रता आदि से फसल नष्ट होने पर पुनर्गठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना का संचालन किया जाएगा। मौसम की स्थिति के आकलन के लिए ब्लॉक में दो स्वचालित मौसम केंद्र की स्थापना बीमा कंपनी की ओर से स्वतंत्र एजेंसी के माध्यम से की जाएगी। मौसम के प्रतिदिन के आंकड़ों के आधार पर फसल की संभावित क्षति का आकलन किया जाएगा।

Related Articles

Back to top button