Uncategorized

CRPF काफिले और बंकर पर धमाके, बारामुला में एक की हत्या

 शनिवार का दिन जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहा। सुबह पुलवामा की तर्ज पर सीआरपीएफ काफिले के पास कार धमाका हुआ, जिसमें सीआरपीएफ की एक बस क्षतिग्रस्त हो गई। दोपहर में आतंकियों ने पुलवामा में सीआरपीएफ के बंपर पर ग्रेनेड से हमला कर दिया, जिसमें एक जवान घायल हो गया। शाम को आतंकियों ने बारामुला में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी। 24 घंटे में तीन बड़ी वारदात होने से राज्य में हाई अलर्ट लागू किया गया है। 

पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के डेढ़ महीने बाद एक बार फिर जम्मू-कश्मीर में हाईवे से गुजर रहे सीआरपीएफ काफिले (CRPF Convoy) के पास जबरदस्त कार धमाका हुआ है। कार धमाका इतना तेज था कि गाड़ी के परखच्चे उड़ गए हैं। धमाके की सूचना मिलते ही सुरक्षा एजेंसियां और सुरक्षा बल मौके पर पहुंच जांच में जुट गए हैं। कार धमाके को देखते हुए राज्य में हाई अलर्ट लागू कर दिया गया है। उधर इस घटना से एक बार फिर सीमा पर तनाव बढ़ गया है।

प्राप्त जानकारी के शनिवार सुबह साढ़े दस बजे के करीब सीआरपीएफ काफिला श्रीनगर से जम्मू की तरफ जा रही थी। इसी दौरान सुबह बनिहाल स्थित तिथार ग्रिड स्टेशन के बाहर इलाके में सैंट्रो कार में विस्फोट हो गया और कार के परखच्चे उड़ गए। विस्फोट की वजह से कॉनवाई में शामिल सीआरपीएफ की 54 वाहिनी की बस नंबर एचआर66-8067 का पिछले कुछ शीशे टूट गए और पिछला हिस्सा आग से थोड़ा काला हो गया। मगर बस में सवार सभी जवान सुरक्षित बच गए।

प्राप्त जानकारी के शनिवार सुबह साढ़े दस बजे के करीब सीआरपीएफ काफिला श्रीनगर से जम्मू की तरफ जा रही थी। इसी दौरान सुबह बनिहाल स्थित तिथार ग्रिड स्टेशन के बाहर इलाके में सैंट्रो कार में विस्फोट हो गया और कार के परखच्चे उड़ गए। विस्फोट की वजह से कॉनवाई में शामिल सीआरपीएफ की 54 वाहिनी की बस नंबर एचआर66-8067 का पिछले कुछ शीशे टूट गए और पिछला हिस्सा आग से थोड़ा काला हो गया। मगर बस में सवार सभी जवान सुरक्षित बच गए।

कार में एक छोटा व एक बड़ा, दो एलपीजी सिलेंडर बरामद हुए हैं। अपुष्ट जानकारी के मुताबिक कार में से यूरिया और तेल जैसी चीजें भी बरामद हुई है। हालांकि इसकी अधिकारिक पुष्टी तो नहीं हुई है। मगर इस कार विस्फोट में आईईडी प्रयोग होने की प्रबल आशंका है। जो एलपीजी सिलेंडर में भर कर तैयार किया गया था।इस विस्फोट में कार में सवार किसी हताहत या घायल तक न होने से इसे रिमोर्ट से ब्लॉस्ट किए जाने की बात कही जा रही है। कार में दो सिलेंडरों का होना तथा यूरिया जैसी चीजें मिलना भी इस विस्फोट का आतंकी हमले की साजिश होने की तरफ संकेत कर रहा है।

काफिले में मौजूद सीआरपीएफ का वाहन क्षतिग्रस्त
सीआरपीएफ के अनुसार शनिवार सुबह करीब 10:30 बजे जम्मू-कश्मीर में बनिहाल के पास एक सिविल कार में धमाका हुआ है। उस वक्त सीआरपीएफ का काफिला वहां से गुजर रहा था। धमाके की वजह से कार पूरी तरह जल गई है। धमाके की वजह से सीआरपीएफ काफिले में शामिल एक वाहन भी पीछे से क्षतिग्रस्त हुआ है। हालांकि सीआरपीएफ जवान पूरी तरह से सुरक्षित हैं और किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है। धमाके की जांच जारी है।

कार में सिलेंडर फटने से धमाके की आशंका

न्यूज एजेंसी एएनआइ ने सीआरपीएफ सूत्रों के हवाले से बताया है कि प्रथम दृष्टया प्रतीत हो रहा है कि कार में सिलेंडर फटने की वजह से धमाका हुआ है। जिस वक्त धमाका हुआ है, वहां से कुछ दूरी पर ही सीआरपीएफ का काफिला मौजूद था। पुलवामा आतंकी हमले के बाद सीआरपीएफ काफिले के पास एक बार फिर से कार धमाका होने से मामले की संवेदनशीलता बढ़ गई है। अभी तक की जांच में सुरक्षा एजेंसियों को प्रतीत हो रहा है कि ये शायद किसी तरह का हमला नहीं है।

कार मालिक की हो रही पहचान

हालांकि सुरक्षा एजेंसियां सभी आशंकाओं पर मामले की जांच कर रही हैं। कार के मालिक की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही सुरक्षा एजेंसियां ये भी जानने का प्रयास कर रही हैं कि कार विस्फोट स्थल तक कैसे पहुंची। किसी भी तरह की आशंका को देखते हुए राज्य में हाई अलर्ट लागू कर दिया गया है।

भारत-पाकिस्तान में लोगों में तनाव

उधर सोशल मीडिया पर सीआरपीएफ काफिले के पास कार में धमाका होने के बाद एक बार फिर से सीमा पर तनाव बढ़ गया है। खासतौर पर भारत-पाकिस्तान सीमा पर रह रहे आम लोगों में इस घटना को लेकर काफी तनाव है। दरअसल 14 फरवरी 2019 को भी जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर इसी तरह से कार में भारी मात्रा में विस्फोटक का प्रयोग कर आत्मघाती हमला किया गया था। हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसके बाद भारत ने पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक की। जवाब में पाकिस्तान ने भी जम्मू-कश्मीर में भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने का नाकाम प्रयास किया था।

कहीं फिर युद्ध जैसी स्थिति न बन जाए

साथ ही सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से भारी गोलाबारी शुरू हो गई थी। भारत की तरफ से भी पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया गया। इसमें दोनों तरफ के जवान और कुछ आम लोगों को जान गंवानी पड़ी थी। साथ ही काफी संख्या में सीमावर्ती इलाकों में रह रहे लोगों को घर खाली कर सुरक्षित ठिकानों पर जाना पड़ा था। लिहाजा, एक बार फिर सीआरपीएफ काफिले के पास कार धमाका होने से भारत में ही नहीं पाकिस्तान के सीमावर्ती इलाकों में रह रहे लोग भी तनाव में हैं। उन्हें डर है कि पिछली बार की तरह इस बार भी दोनों देशों के बीच जंग जैसी स्थिति न पैदा हो जाए। हालांकि, सुरक्षा एजेंसियों ने शुरूआती जांच में कार धमाके के पीचे किसी तरह के हमले की आशंका को खारिज कर दिया है।

Related Articles

Back to top button