राजनीति

राहुल गांधी ने भाजपा के ‘संकल्प पत्र’ को बताया ‘बंद कमरे’ में तैयार घोषणा-पत्र

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भाजपा द्वारा घोषणापत्र जारी करने के बाद अब ये बहस छिड़ी हुई है कि किसके वादों में ज्‍यादा दम है? कांग्रेस पहले ही अपने घोषणापत्र का पिटारा मतदाताओं के सामने पेश कर चुका है। सोमवार को भाजपा ने भी अपना ‘संकल्‍प पत्र’ जारी कर दिया। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि भाजपा का घोषणापत्र बंद कमरे में तैयार नजर आता है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर भाजपा के घोषणापत्र पर हमला बोला, ‘कांग्रेस का घोषणापत्र लंबे विचार-विमर्श के बाद तैयार किया है। लाखों भारतीयों की इच्‍छाओं को इसमें शामिल किया गया है। इससे जनता को बल मिलेगा। वहीं, ‘भाजपा का घोषणापत्र बन्द कमरे में तैयार किया गया है। इसमें एक अलग-थलग पड़ चुके व्यक्ति की आवाज है। यह अदूरदर्शी और अहंकार भरा है।’

उधर, बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने आरोप लगाया कि भाजपा ने जनता को फिर से गुमराह करने का प्रयास किया है। संकल्प पत्र जारी करने के बजाए पिछले चुनाव में वादों पर कार्रवाई की रिपोर्ट जनता के सामने प्रस्तुत करनी चाहिए थी। सरकार ने जनता से विश्वासघात करते हुए चंद धन्ना सेठों का ही भला किया है। देश की 130 करोड़ जनता खुद को ठगा महसूस कर रही है। उन्होंने कहा कि गरीब विरोधी भाजपा का घोषणापत्र केवल छलावा ही छलावा है। भाजपा को सोचना चाहिए कि काठ की हांडी केवल एक बार चढ़ती है, बार-बार नहीं।समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा के संकल्प पत्र को एक और धोखा करार दिया और कहा कि भाजपा ने जब अपने दो संकल्प पत्रों के वादे नहीं निभाए तो अब तीसरे संकल्प पत्र पर कौन विश्वास करेगा। अखिलेश ने कहा कि किसानों, नौजवानों व व्यापारियों सहित समाज के हर वर्ग को धोखा दिया है। सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि संकल्प पत्र में कोई खास बात नहीं है। जनता भाजपा की सच्चाई समझ चुकी है और अब इसके बहकावे में आने वाली नहीं है।

Related Articles

Back to top button