बिजनेस

पर्सनल लोन है लेना हुआ सस्ता इस बैंक में ब्याज दरें भी हैं कम

अचानक पैसों की जरूरत आने पर हमारे पास अंत में एक ही रास्ता बचता है कि बैंक से पर्सनल लोन लिया जाए। बैंकों के लिए असुरक्षित होने की वजह से पर्सनल लोन की ब्याज दरें होम और कार लोन की तुलना में अधिक होती हैं। पर्सनल लोन के लिए आपको अपनी कोई संपत्ति गिरवी नहीं रखनी होती है जैसे गोल्ड लोन या लोन अगेंस्ट प्रॉपर्टी के मामलों में होता है।

बैंक कैसे तय करते हैं पर्सनल लोन की राशि?

बैंक आपको पर्सनल लोन के तौर पर अधिकतम कितनी रकम दे सकते हैं यह आपकी आय, क्रेडिट रिपोर्ट, लोन चुकाने की क्षमता और कुछ अन्य कारकों पर निर्भर करता है। पर्सनल लोन अनसिक्योर्ड लोन होता है इसलिए बैंक इसे देने से पहले ग्राहक की हर तरह से तस्दीक कर लेते हैं।

इन बैंकों के पर्सनल लोन हैं सबसे सस्ते:अगर आपका किसी बैंक में अकाउंट है तो संभव है कि आपको ई-मेल या एसएमएस के जरिए पर्सनल लोन का ऑफर आया हो। हालांकि, विभिन्न बैंकों के पर्सनल लोन की ब्याज दरें अलग-अलग होती हैं। हम आपको बताएंगे कि आपके लिए कहां से पर्सनल लोन लेना सस्ता पड़ेगा।

इलाहाबाद बैंक के पर्सनल लोन की ब्याज दरें 8.65-13.15 फीसद, आईडीबीआई बैंक की 10.20-12.95 फीसद, धनलक्ष्मी बैंक की 10.40 फीसद, पंजाब नेशनल बैंक की 10.45-15 फीसद, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स की 10.50-12.50 फीसद, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की 10.60-14.60 फीसद, इंडियन बैंक की 10.65-11.25 फीसद, यस बैंक की 10.75-17.50 फीसद और इंडियन ओवरसीज बैंक की 10.95-13.70 फीसद हैं। ये ब्याज दरें बैंकों की वेबसाइट से ली गई हैं। पर्सनल लोन की वास्तविक ब्याज दरें लोन लेने वाले व्यक्ति की क्रेडिट प्रोफाइल, लोन की रकम, लोन के रीपेमेंट की अवधि और कंपनी जिसमें वह काम करता है, उस पर निर्भर करता है।

जहां तक संभव हो पर्सनल लोन लेने से बचें: फाइनेंशियल प्लानर्स के अनुसार, जितना संभव हो पर्सनल लोन लेने से बचना चाहिए। क्योंकि, इसकी ब्याज दरें सबसे अधिक होती हैं। इसकी जगह आप अपने परिचितों से कुछ समय के लिए कर्ज ले सकते हैं या गोल्ड लोन का सहारा ले सकते हैं। 

Related Articles

Back to top button