Uncategorized

कश्मीर के नेताओं की नजरबंदी लोकतांत्रिक आवाज को कुचलने जैसा: पी चिदंबरम

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि”जम्मू-कश्मीर पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि कश्मीर के नेताओं की नजरबंदी लोकतांत्रिक आवाज को कुचलने जैसा है. चिदंबरम ने ट्वीट किया, “जम्मू-कश्मीर के नेताओं को घर में नजरबंद किया जाना इस बात का सिग्नल है कि सरकार अपने मकसद को हासिल करने के लिए सभी लोकतांत्रिक मूल्यों और सिद्धांतों को कुचल देगी. मैं उनकी नजरबंदी की आलोचना करता हूं.”

Related Articles

Back to top button