स्वास्थ्य

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए नोवेल कोरोनावायरस से बचाव के उपाय

नई दिल्ली, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नोवेल कोरोनावायरस से बचाव के उपाय जारी किए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, आम नागरिकों को इस वायरस के प्रति जागरूक बनाने और इसके संक्रमण को फैलने से रोकने में ये उपाय मददगार साबित हो सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “आप सभी को अपने और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए यह उपाय जानना आवश्यक है।”

मंत्रालय ने कोरोनावायरस के लक्षण बताते हुए कहा है कि बुखार, खांसी, सांस लेने में कठिनाई इसके आम लक्षण हैं।

मंत्रालय ने खुद को और दूसरों को इस बीमारी से बचाने के लिए विशेषज्ञों ने चीन से लौटे भारतीयों को विशेष तौर पर सतर्क रहने को कहा है। विशेषज्ञों के मुताबिक, यदि आपने हाल में चीन की यात्रा की है (पिछले 14 दिनों के भीतर) या किसी गैर-पंजीकृत व्यक्ति से संपर्क किया है तो आपको यह सलाह दी जाती है कि अपनी वापसी के बाद 14 दिनों तक घर में अलग-थलग रहें, अलग कमरे में सोएं।

मंत्रालय की सलाह है कि परिवार के अन्य सदस्यों के साथ कम संपर्क करें और आगंतुकों से मुलाकात को नजरअंदाज करें। खांसने और छींकने पर नाक और मुंह ढक लें।

वहीं सभी सामान्य जनों के लिए चेतावनी जारी करते हुए कहा गया है कि सर्दी या फ्लू जैसे लक्षण वाले किसी व्यक्ति के निकट संपर्क में आने से बचें। (किसी भी व्यक्ति से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें)। घर में हर किसी को हर समय हाथ की सफाई रखनी चाहिए और हाथ धोना चाहिए, विशेष तौर पर छींकने या खांसने के बाद।

सलाह यह भी है कि भोजन तैयार करने से पहले और बाद में, खाने से पहले, शौचालय उपयोग के बाद जब हाथ गंदे होते हैं, साबुन से हाथ धोने चाहिए। जानवरों या जानवरों के अपशिष्ट के संपर्क में आने के बाद अच्छी तरह कम से कम 20 सेकेंड तक साबुन से हाथ धोने चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी की गई एडवाइजरी कहती है, “यदि आपको चीन से लौटने के 28 दिनों के भीतर बुखार, खांसी या सांस लेने में कठिनाई होती है तो बिना देरी किए तुरंत डॉक्टर को इसकी जानकारी दें और इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें।”

नोवल कोरोना वायरस का प्रकोप सबसे ज्यादा चीन में फैल रहा है। चीन के अलावा सिंगापुर नेपाल कोरिया थाईलैंड समेत अन्य देशों से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अन्य देशों से भी कई मामले सामने आए हैं। कोरोनावायरस बीमारी के लक्षण सामान्य सर्दी-जुकाम से लेकर गंभीर बीमारियों जैसे मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (एमईआरएस)-सीओवी और सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (सार्स-सीओवी) जैसे हैं।

अधिक जानकारी के लिए भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष के फोन नंबर +91-11-2397 8046 पर संपर्क करें।

मंत्रालय की सलाह है कि तुरंत मास्क पहनें और नजदीकी चिकित्सा केंद्र जाकर परामर्श लें। घबराएं नहीं, अभी तक नोवल कोरोनावायरस मरीज का एकलौता मामला केरल में सामने आया है। मरीज एक छात्र है जो चीन के वुहान यूनिवर्सिटी में पढ़ रहा था।

जांच में मरीज नोवल कोरोनावायरस के लिए सकारात्मक पाया गया है और उसे अस्पताल में एक अलग विशेष कक्ष में रखा गया है। मरीज की स्थिति फिलहाल स्थिर है और उसकी कड़ी निगरानी की जा रही है।

Related Articles

Back to top button