देश

निर्भया मामले में अब अक्षय ने फांसी से बचने के लिए राष्ट्रपति के पास भेजी दया याचिका

2012 Delhi Nirbhaya case: निर्भया मामले में विनय कुमार शर्मा के बाद एक और दोषी अक्षय ठाकुर ने भी फांसी की सजा से राहत पाने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास दया याचिका भेजकर राहत की गुहार लगाई है। इससे पहले शनिवार को ही राष्ट्रपति ने विनय शर्मा की याचिका खारिज की है, हालांकि विनय भी मुकेश की तरह सुप्रीम कोर्ट में राष्ट्रपति के दया याचिका खारिज करने को चुनौती दे सकता है।

बता दें कि निचली अदालत, दिल्ली हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से फांसी की सजा पाए चारों दोषी तिहाड़ जेल संख्या-3 में बंद हैं। दिल्ली की पटियाला हाउस द्वारा डेथ वारंट जारी होने के बाद शनिवार को चारों दोषियों (अक्षय ठाकुर, मुकेश सिंह, विनय कुमार शर्मा और पवन कुमार गुप्ता) को फांसी दी जानी थी, लेकिन दोषियों की कई याचिकाओं के लंबित होने के चलते फांसी पर रोक लगी दी है।

कानून के जानकारों की मानें तो पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों की फांसी टालने के लिए नियम-836 का हवाला, जिसमें यह प्रावधान है कि अगर दया याचिका लंबित है, तो दोषी को फांसी नहीं दी जा सकती  है। यह फैसला शुक्रवार को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने सुनाया था।

Related Articles

Back to top button