Uncategorized

दाऊद इब्राहिम को लगा झटका भारत डिपोर्ट होगा भतीजा, एयरपोर्ट पर धरा गया छोटा शकील का भाई

 अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को बड़े झटके लगे हैं. डॉन छोटा शकील के भाई अनवर को अबू धाबी के एयरपोर्ट पर कस्टम्स एंड अबू धाबी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. अनवर अबू धाबी से कराची के लिए उड़ान भरने आया था. उसके पास पाकिस्तान का पासपोर्ट मिला है. दूसरी तरफ दाऊद के भतीजे सोहेल शेख को अमेरिका से डिपोर्ट करके भारत लाया जा रहा है. सोहेल शेख दाऊद के भाई नुरा का बेटा है. शेख 2016 में अमेरिका में पकड़ा गया था. वह हथियारों की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार हुआ था.

उधर, अनवर की गिरफ्तारी के बाद भारतीय दूतावास छोटा शकील के भाई अनवर को अपने गिरफ्त में लेने की कोशिशों में जुटा है, जबकि पाकिस्तानी दूतावास भी उसे पकड़ने की कोशिश में लगा हुआ है. पाकिस्तान का दावा है कि अनवर के पास पाकिस्तान का पासपोर्ट है, इस लिहाज से उसे सौंपा जाना चाहिए. अनवर बाबू शेख के खिलाफ पहले से ही रेड कॉर्नर नोटिस जारी है. अनवर के बारे में कहा जाता है कि वह आईएसआई के साथ काम कर रहा है और भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधियों में शामिल है.

माफिया डॉन छोटा शकील का असली नाम शकील बाबूमियां शेख है. माफिया डॉन छोटा शकील 1993 में मुंबई में हुए सीरियल बम ब्लास्ट के मुख्य आरोपियों में से एक है. उसे अंडरवर्ल्ड के सबसे बड़े डॉन दाऊद इब्राहिम का खास आदमी माना जाता है.

छोटा शकील और दाऊद बीच रिश्ते टूटने की आई थी खबर
पिछले साल खबर आई थी कि दाऊद इब्राहिम और छोटा शकील के बीच रिश्ते में कड़वाहट आ गई है. एक जमाने में अबु सलेम को दाऊद इब्राहीम का बायां हाथ और छोटा शकील को दायां हाथ माना जाता था. अबु सलेम ने जब दाऊद का साथ छोड़ा, उसके बाद से अंडरवर्ल्‍ड की दुनिया में छोटा शकील ही डॉन का सबसे वफादार माना जाता था. यहां तक कि दाऊद गैंग से जुड़ी खबरें जब बाहर आती थीं तो कई बार छोटा शकील मीडिया को उनकी तरफ से प्रतिक्रिया भी देता था.

खुफिया एजेंसियों से जुड़े सूत्रों के हवाले से यह रिपोर्ट प्रकाशित की है कि छोटा शकील ने दाऊद का साथ छोड़ दिया है. सूत्रों के हवाले से यह भी कहा जा रहा है कि वह कराची में अब क्लिफ्टन एरिया में भी मौजूद नहीं हैं जहां 1980 के दशक में भारत से भागने के बाद से दोनों ने अपना बेस बना रखा था. इस वक्‍त उसकी लोकेशन के बारे में भी बस कयास ही लगाए जा रहे हैं.

सूत्रों के मुताबिक दाऊद के गैंग में छोटे भाई अनीस इब्राहीम के बढ़ते कद के चलते छोटा शकील ने ऐसा कदम उठाया. दरअसल पिछले तीन दशकों से छोटा शकील ही दाऊद के नाम पर पूरे गैंग को चलाता रहा है. दाऊद ने भी अपने परिवार को पहले ही साफ कर दिया था कि गैंग के मामलों में उनको दखल देने का कोई हक नहीं है. इसके बावजूद हालिया दौर में दाऊद के छोटे भाई अनीस इब्राहीम के बढ़ते कद से छोटा शकील को परेशानी महसूस हो रही थी. कई बार उसकी बात को नजरअंदाज कर अनीस ने मनमुताबिक काम को अंजाम दिया. ये बात छोटा शकील को नागवार गुजरी और इसके चलते डॉन दाऊद से उसके मतभेद हो गए.

Related Articles

Back to top button