जरा हटके

वैज्ञानिकों ने सौरमंडल में ढूंढ निकाला एक और पिंड

वैज्ञानिको द्वारा लगातार सफलता अर्जित की जा रही है दरअसल वैज्ञानिकों ने हमारे सौरमंडल के सबसे सुदूर ज्ञात खगोलीय पिंड को ढूंढ निकाला है. सौरमंडल में होते हुए भी यह इतना दूर है कि इसे आम बोलचाल में “फारआउट” नाम से जाना जाने लगा है बेहद धीमे घूमता गुलाबी रंग का बर्फीला क्षुद्र ग्रह सौरमंडल में सूरज और पृथ्वी के बीच की दूरी से करीब 120 से 130 गुना ज्यादा दूर है.  

500-600 किलोमीटर का है 

एक खगोल वैज्ञानिक कि माने तो इस क्षुद्र ग्रह को आधिकारिक रुप से 2018 वीजी 18 नाम दिया गया है और अनुमान है कि इसका व्यास करीब 500-600 किलोमीटर है. हमारे सौरमंडल में करीब 50 क्षुद्र ग्रह हैं. इनमें सबसे बड़ा प्लूटो है जिसका व्यास 2370 किलोमीटर है, इसके अलवा एक और क्षुद्र ग्रह है एरिस उसका व्यास करीब 2325 किलोमीटर है.

गुलाबी जैसा है 

प्राप्त जानकारी अनुसार वैज्ञानिक ने बताया “जब मैंने पहली बार इस पिंड को देखा तो यह बेहद धीमी गति से घूम रहा था और मैंने इतनी धीमी गति कहीं और नहीं देखी थी, तो मैंने खुद से कहा यह ‘दूर की चीज है’ जैसे कि ‘यह बहुत शानदार है.’ लेकिन यह दूरी के मामले में भी बहुत दूर की चीज है, यही वजह है कि मैंने इसे फारआउट कहना शुरू किया. वैज्ञानिक के अनुसार “हम इसके बारे में बहुत कुछ नहीं जानते, पिछले महीने ही हमने इसकी खोज की है. इसकी चमक से हम इसके आकार का पता लगा सकते हैं. हम इसका रंग जानते हैं, यह गुलाबी जैसा है जिसमें लालिमा भी है.

Related Articles

Back to top button