बिजनेस

आपको 31 दिसंबर से पहले हर हाल में पांच काम निपटाने होंगे नहीं तो आपको वित्तीय मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है

 आज वर्ष 2018 का आखिरी दिन है और आज ही आपको पांच जरूरी वित्तीय काम निपटाने हैं। अगर आप आज इन्हें पूरा करने से चूक जाते हैं तो आपको भारी आर्थिक नुकसान हो सकता है। इसलिए कोशिश कीजिए कि तमाम गैरजरूरी कामों को छोड़कर पहले आज इन्हें निपटा लें। जानिए ये पांच काम कौन-कौन से हैं।

31 दिसंबर तक हर हाल में भर लें ITR: अगर वित्त वर्ष 2017-18 का आईटीआर भरने में आप चूक गए हैं तो इसे हर हाल में 31 दिसंबर तक भर लें नहीं तो आपकी जेब ढ़ीली हो सकती है। हालांकि 31 दिसंबर से पहले आईटीआर भरने पर भी आपको 5 हजार रुपये का जुर्माना देना होगा, क्योंकि इसके भरे जाने की डेडलाइन (31 अगस्त 2018) खत्म हो चुकी है। लेकिन अगर आप इस डेडलाइन में भी चूक कर जाते हैं और आप 1 जनवरी से 31 मार्च 2019 से पहले इसे भरते हैं तो बतौर जुर्माना आपको 10,000 रुपये देने होंगे। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अगर आप 31 मार्च 2019 तक भी रिटर्न फाइल नहीं कर पाते हैं तो आपको वित्त वर्ष 2017-18 के रिटर्न फाइल करने का कोई भी मौका नहीं मिलेगा। यानी इस बार से आपको अपना आईटीआर तय आकलन वर्ष में ही भरना होगा।

बदलवा लें अपना पुराना एटीएम कार्ड और क्रेडिट कार्ड: आपको अपने पुराने डेबिट (एटीएम) और क्रेडिट कार्ड को बदलवाना होगा। अगर आपके पास पुराना मैग्नेटिक स्ट्रिप वाला एटीएम कार्ड या क्रेडिट कार्ड है तो इसे हर हाल में बदलवाकर ईएमवी चिप वाला कार्ड ले लें। ऐसा नहीं करने पर 1 जनवरी से ये पुराने कार्ड काम करना बंद कर देंगे। इसलिए इस काम में देरी न करें और इसे साल खत्म होने से पहले ही बदलवा लें। अगर आपको मालूम करना है कि आपका कार्ड मैगस्ट्रिप कार्ड है या नहीं तो इसके लिए आप अपने कार्ड पर बाईं ओर गौर करें, अगर वहां कोई चिप नहीं लगी है तो वह मैगस्ट्रिप कार्ड है। वहीं अगर आपके कार्ड के ऊपर बाईं ओर कोई चिप लगी है तो यह कार्ड EMV चिप डेबिट कार्ड है।

बैंक खाते से जुड़वाएं अपना नंबर: अगर आपने एसबीआई की नेटबैंकिंग सेवा ले रखी है तो इसे आगे जारी रखने के लिए आपको हर हाल में 31 दिसंबर से पहले अपना मोबाइल नंबर बैंक खाते से जुड़वाना होगा। ऐसा न करने पर 1 जनवरी से आपकी नेट बैंकिंग सेवा रोकी जा सकती है। इसलिए इस काम को भी हर हाल में 31 दिसंबर से पहले पूरा करा लें।

बदलवा लें पुरानी चेकबुक: अगर आप अब भी पेमेंट के लिए गैर-सीटीसी कंप्लेंट चेक का इस्तेमाल कर रहे हैं तो अगले महीने से आप ऐसा नहीं कर पाएंगे। 1 जनवरी, 2019 से आपका बैंक इन चेक को क्लियर नहीं करेगा। एसबीआई और पीएनबी समेत अधिकांश बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस कदम के बारे में पहले ही सूचित कर दिया है। एसबीआई ने अपनी वेबसाइट पर एक नोटिस के जरिए बताया है कि आरबीआई ने करीब 3 माह पहले बैंकों को निर्देश दिया था कि 1 जनवरी 2019 से नॉन सीटीएस चेक बुक का प्रयोग पूरी तरह से बंद कर दें। नॉन-सीटीएस चेक बुक 31 दिसंबर 2018 के बाद से मान्य नहीं होंगे। यदि आप चेक बुक के जरिये लेन-देन जारी रखना चाहते हैं, तो नई चेक बुक बैंक से ले लें।

एसबीआई बडी एप से निकाल लें पैसा: एसबीआई ने अपनी बडी एप को एक दिसंबर से बंद कर दिया था। हालांकि अब भी जिन लोगों का पैसा बडी एप में पड़ा है उन्हें बैंक की ओर से पैसा निकालने का मौका 31 दिसंबर तक दिया गया है। इसलिए कोशिश करें कि आप अपना पैसा 31 दिसंबर से पहले पहले निकाल लें नहीं तो बाद में आपको मुश्किल हो सकती है। एसबीआई बडी एप के विकल्प के रुप में योनो एप को लॉन्च कर चुकी है।

Related Articles

Back to top button