खेल

स्मृति मंधाना को ICC ने वूमेन क्रिकेटर ऑफ द ईयर के साथ ही साथ वूमेन वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर के खिताब से नवाजा है

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की उप-कप्तान स्मृति मंधाना को आईसीसी ने ‘वूमेन क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ के साथ ही साथ ‘वूमेन वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर’ के खिताब से नवाजा है। बाएं हाथ की ओपनर बल्लेबाज स्मृति ने इस वर्ष 12 वनडे मैचों में 669 रन जबकि 25 टी 20 मैचों में 622 रन बनाए थे। क्रिकेट से सबसे छोटे प्रारूप में उनका स्ट्राइक रेट 130.67 का रहा था जबकि वनडे में उनका औसत 66.90 का रहा। 

स्मृति ने इस वर्ष महिला टी 20 विश्व कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में भारतीय टीम के लिए अहम भूमिका निभाई थी। इस विश्व कप में उन्होंने पांच मैचों में 125.35 के स्ट्राइक रेट से 178 रन बनाए थे। वनडे रैंकिंग में वो इस वक्त चौथे नंबर पर काबिज हैं जबकि टी 20 बल्लेबाजों की रैंकिंग में वो दसवें नंबर पर हैं। आइसीसी ने इसकी जानकारी दी। मंधाना भारत की दूसरी महिला क्रिकेटर हैं जिन्होंने पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी के बाद आईसीसी प्लेयर ऑफ द ईयर का खिताब जीता। झूलन ने वर्ष 2007 में ये उपलब्धि हासिल की थी। 

इस सम्मान को हासिल करने के बाद उन्होंने कहा कि अगर आपके अच्छे प्रदर्शन के बाद इस तरह का सम्मान मिलता है तो इससे आगे और कड़ी मेहनत करने की साथ ही टीम के लिए और बेहतर करने की प्रेरणा मिलती है। दक्षिण अफ्रीका में मैंने शतकीय पारी खेली थी और उसके बाद ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में भी मेरा प्रदर्शन अच्छा रहा था। कई लोग कहते थे कि मैं भारत में ज्यादा स्कोर नहीं कर पाती हूं लेकिन इसके बाद मेरे पास खुद को साबित करने का दबाव था। 

आइसीसी के चीफ एक्जक्यूटिव डेविड रिचर्डसन ने मंधाना को बधाई देते हुए कहा कि स्मृति ने इस वर्ष अपने बेहतरीन प्रदर्शन से फैंस का खूब मनोरंजन किया और ये वर्ष उनके लिए शानदार रहा। वहीं ऑस्ट्रेलिया महिला क्रिकेट टीम की ओपनिंग बल्लेबाज और विकेटकीपर एलिसा हेली को ‘आईसीसी वूमेन टी 20 प्लेयर ऑफ द ईयर’ का खिताब मिला। एलिसा ने वूमेन टी 20 विश्व कप में इस वर्ष छह मैचों में 225 रन बनाए थे। इंग्लैंड की 19 वर्षीय महिला लेफ्ट ऑर्म स्पिनर सोफी इक्लेस्टोन को ‘इमर्जिंग प्लेयर ऑफ द ईयर’ का खिताब दिया गया। उन्होंने इस वर्ष नौ वनडे मैचों में 18 विकेट जबकि 14 टी 20 मैचों में 17 विकेट लिए थे। 

Related Articles

Back to top button