उत्तर प्रदेशराज्य

शास्त्री नगर निवासी कनफेक्शनरी कारोबारियों ने आयकर विभाग के सर्वे में आठ करोड़ रुपये सरेंडर किये

 शास्त्री नगर निवासी कनफेक्शनरी कारोबारियों ने आयकर विभाग के सर्वे में आठ करोड़ रुपये सरेंडर किये है। आयकर विभाग ने मंगलवार को पनकी व दादानगर स्थित फैक्ट्रियों व शास्त्री नगर स्थित ऑफिस में सर्वे किया था। कारोबारियों ने वर्ष 2016 में आयी इनकम टैक्स डिस्क्लोजर स्कीम (आइडीएस) में पांच करोड़ रुपये विभाग के सामने घोषित किए थे।

आयकर विभाग की रेंज दो की टीम ने कनफेक्शनरी कारोबारी दो रिश्तेदारों की दादानगर और पनकी स्थित चार फैक्ट्रियों पर मंगलवार को सर्वे किया था, दोनों का घर शास्त्री नगर में है। उन लोगों ने अपने घर के पते पर ही ऑफिस दिखाया था, इसलिए वहां भी आयकर विभाग ने कार्रवाई की थी। आयकर अधिकारियों ने जांच में पाया कि बिक्री को वास्तविकता से काफी कम दर्शाया गया है।

उन्होंने संपत्ति की बिक्री का कैपिटल गेन नहीं चुकाया था। इसके साथ ही वे अपनी बढ़ती आय को दर्शा नहीं रहे थे। उनकी दो फैक्ट्री पनकी इंडस्ट्रियल एरिया और दो फैक्ट्री दादानगर इंडस्ट्रियल एरिया में हैं। सर्वे मुख्य आयकर आयुक्त दुर्गाचरण दास, संयुक्त आयकर आयुक्त अमरेश तिवारी के निर्देश पर किया गया था। इसके लिए पांच टीमें बनाई गई थीं। टीम ने उन्हें वर्ष में एक बार टैक्स देने की जगह एडवांस टैक्स देने की सलाह दी। ऐसा न करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई। कारोबारियों की एक फैक्ट्री में जॉब वर्क भी होता है।

Related Articles

Back to top button