उत्तर प्रदेशराज्य

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर बेहद गंभीर भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में अपना कील-कांटा दुरुस्त करने में लगा है

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर बेहद गंभीर भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में अपना कील-कांटा दुरुस्त करने में लगा है। इसी क्रम में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह छह फरवरी को 40 नए जिला कार्यालय भवनों का उद्घाटन करेंगे।

अमित शाह बुलंदशहर के नवनिर्मित भाजपा कार्यालय से ही सभी कार्यालयों का प्रतीकात्मक शुभारंभ करेंगे लेकिन, संबंधित जिलों में भाजपा संगठन के पदाधिकारी, सरकार के मंत्री, सांसद, विधायक व कार्यकर्ता समारोह पूर्वक ‘गृह प्रवेश’ करेंगे। इस समारोह के जरिये भाजपा संघर्ष से सफलता की कहानी दोहराएगी।

शून्य से शिखर पर पहुंची भाजपा के पास अब भी बहुत से जिलों में अपना कार्यालय भवन नहीं है। 2017 में दस अक्टूबर को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीतापुर में 51 जिला कार्यालय भवनों का एक साथ शिलान्यास किया था। पश्चिम क्षेत्र के प्रभारी और भाजपा के प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक बताते हैं कि करीब 40 कार्यालय भवन बनकर तैयार हैं। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जब इनका उद्घाटन कर कार्यकर्ताओं को सौंपेंगे तो यह भाजपा की सफलता का सबसे बड़ा प्रतीक होगा। इससे कार्यकर्ताओं का मनोबल ऊंचा होगा।

बलरामपुर जिले में भाजपा कार्यालय भवन का उद्घाटन पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया था। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पहले संसदीय क्षेत्र होने की वजह से बलरामपुर के कार्यालय भवन का पहले ही श्रीगणेश किया गया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने नए जिला कार्यालय भवनों के उद्घाटन समारोह के लिए पदाधिकारियों की जिम्मेदारी तय कर दी है।

समाजवादी गढ़ में बूथ प्रबंधन का हुनर सिखाएंगे शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह छह फरवरी को समाजवादी गढ़ में बूथ प्रबंधन का हुनर सिखाएंगे। वह बुलंदशहर जाने से पहले एटा में बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करेंगे। बृज क्षेत्र के प्रभारी और भाजपा प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ल ने बताया कि एटा में होने वाले बृज क्षेत्र के सम्मेलन में आगरा, अलीगढ़ और बरेली मंडल की कुल 13 लोकसभा क्षेत्रों के बूथ अध्यक्ष शामिल होंगे।

इनमें आगरा, फतेहपुर, मैनपुरी, फीरोजाबाद, मथुरा, अलीगढ़, हाथरस, कासगंज-एटा, बरेली, आंवला, बदायूं, शाहजहांपुर और पीलीभीत लोकसभा क्षेत्र शामिल हैं। इन दिनों उत्तर प्रदेश को नए सिरे से मथ रहे हैं। पिछले दिनों वह कानपुर-बुंदेलखंड और अवध क्षेत्र के 26 लोकसभा क्षेत्रों के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित कर चुके हैं। ध्यान रहे कि इस अंचल की मैनपुरी, फीरोजाबाद और बदायूं सीटें 2014 में समाजवादी पार्टी ने जीती थीं। यही वह क्षेत्र है जहां पर भाजपा को अन्य क्षेत्रों के मुकाबले कम सीटें मिलीं।

इस बार शाह समाजवादी गढ़ में घुसकर भाजपा का परचम फहराने का मंत्र देंगे। शाह दो फरवरी को अमरोहा में पश्चिम क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करेंगे। आठ को जौनपुर में काशी क्षेत्र और उसी दिन महराजगंज में गोरखपुर क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को संबोधित करेंगे। 

Related Articles

Back to top button