खेल

सौराष्ट्र और विदर्भ में होगी खिताबी टक्कर, पुजारा बनाम जाफर रह सकता है मुकाबला

मौजूदा चैंपियन विदर्भ रविवार (3 फरवरी) से जब यहां विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में सौराष्ट्र के खिलाफ रणजी ट्रॉफी फाइनल (Ranji Trophy 2018-19) उतरेगी तो उसकी कोशिश अपना खितबा बचाने की होगी. विदर्भ ने पहले सेमीफाइनल मैच में केरल को पारी एवं 11 रन से हराकर फाइनल में कदम रखा है. सौराष्ट्र ने दूसरे सेमीफाइनल मैच में कर्नाटक को पांच विकेट से मात देकर खिताबी मुकाबले में प्रवेश किया है. 

सौराष्ट्र तीसरी बार रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) के फाइनल में पहुंचा है. इससे पहले उसे दो बार फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था. इस बार वह खिताब जीतने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेगा. ऑस्ट्रेलिया में भारत की ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत के हीरो रहे चेतेश्वर पुजारा के होने से सौराष्ट्र बेहद मजबूत हुई है.

चेतेश्वर पुजारा ने सेमीफाइनल में शतकीय पारी खेल सौराष्ट्र को खिताबी मुकाबले में पहुंचाने में बड़ी भूमिका निभाई थी. पुजारा भी अपनी टीम को पहला खिताब दिलाने की पूरी कोशिश करेंगे. सौराष्ट्र को पुजारा के अलावा बल्लेबाजी में शेल्डन जैक्सन, हार्विक देसाई और स्नेल पटेल से भी काफी उम्मीदें होंगी. टीम को यहां तक पहुंचाने में तीनों का अहम योगदान रहा है.

गेंदबाजी में सारा दारोमदार कप्तान जयदेव उनादकट के जिम्मे है. इस सीजन में बाएं हाथ के स्पिनर धर्मेद्रसिंह जडेजा ने अपने प्रदर्शन से काफी प्रभावित किया है. अब उनके जिम्मे खिताबी मुकाबले में कप्तान का साथ देने बड़ी जिम्मेदारी होगी. धर्मेद्रसिंह ने इस सीजन में अब तक 52 विकेट हासिल किए हैं.

दूसरी तरफ, विदर्भ की टीम चाहेगी कि वह अपने घर में खिताब बचाने में सफल रहे. टीम के पास वसीम जाफर के रूप में एक ऐसा खिलाड़ी मौजूद है जो रनों के मामले में शीर्ष पर चल रहे हैं और जिनके पास फाइनल में जीतने का अनुभव भी है. जाफर ने मुंबई के साथ रणजी ट्रॉफी खिताब जीता है. वे बीते साल भी विदर्भ के पहले रणजी ट्रॉफी खिताब का हिस्सा रहे थे. इस सीजन में उनका बल्ला जमकर बोल रहा है और वे अभी तक 1003 रन बना चुके हैं.

जाफर के अलावा संजय रामास्वामी और कप्तान फैज फजल भी लगातार रन कर रहे हैं. इनके अलावा आदित्य सरवाटे भी टीम की बल्लेबाजी में अहम योगदान देने का माद्दा रखते हैं. गेंदबाजी में विदर्भ का दारोमदार उमेश यादव और रजनीश गुरबानी के जिम्मे होगा. सरवटे भी अपनी फिरकी से सौराष्ट्र के बल्लेबाजों को परेशान रखने का दम रखते हैं. बाएं हाथ के स्पिनर सरवाटे ने अभी तक 44 विकेट लिए हैं.

इनमें से चुनी जाएंगी टीमें:
सौराष्ट्र: 
चेतेश्वर पुजारा, अर्पित वासवादे, अग्निवेश अयाची, प्रेरक माकंड, एवि बेरोट, समर्थ व्यास, कृषण परमार, जय चौहान, शेल्डन जैक्सन, चिराग जानी, कमलेश मकवाना, शौर्या सनानंदिया, हार्दिक राठौड़, जयदेव उनादकट, धर्मेद्रसिंह जडेजा, युवराज चुदास्मा, स्नैल पटेल, हार्विक देसाई.
विदर्भ: फैज फजल, गणेश सतीश, रजनीश गुरबानी, वसीम जाफर, अक्षय कारनेवर, ललित एम यादव, संजय रामास्वामी, आदित्य सरवटे, अर्थवा टाइडे, आदित्य ठाकरे, अक्षय वादकर, श्रीकांत वाघ, अक्षय वखारे, अपूर्व वानखेड़े, सिद्धेश वाथ, दर्शन नालकंडे, उमेश यादव.

Related Articles

Back to top button