उत्तर प्रदेशराज्य

चौबेपुर व शिवराजपुर के चार संदिग्ध व्यक्तियों की हैंडराइटिंग भी पुलिस ने ली है

चौबेपुर व शिवराजपुर के चार संदिग्ध व्यक्तियों की हैंडराइटिंग भी पुलिस ने ली है। इन चारों के बारे में पकड़े गए हिस्ट्रीशीटर व उसके साथियों ने जानकारी दी थी। टीम जल्द ही हैंडराइटिंग का मिलान मौके पर मिले पत्र व डायरी से कराने के लिए पन्नों को फॉरेंसिक लैब भेजेगी।

शिवराजपुर के मक्कापुरवा गांव में एक वर्ग के लोगों में आपसी रंजिश के साथ ही ग्र्राम समाज की भूमि को लेकर विवाद सामने आया है। इसमें एक पक्ष का पकड़े गए हिस्ट्रीशीटर अमर सिंह, उसके साथी गिन्ना व रवींद्र से भूमि विवाद चल रहा है। अमर सिंह के अनुसार उसे रास्ते से हटाने के लिए दूसरे पक्ष की यह साजिश भी हो सकती है। शनिवार को पुलिस ने दूसरे पक्ष के चार व्यक्तियों को थाने बुला हैंडराइटिंग के नमूने लिए। सूत्रों ने बताया कि एक व्यक्ति की लिखावट ट्रेन में मिले पत्र की दो लाइनों से मिलती जुलती है। लिहाजा लिखावट की फॉरेंसिक जांच कराई जाएगी। एसपी ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि संदेह के आधार पर कुछ व्यक्तियों की हस्त लिखावट को लिया गया है। फॉरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। 

तमिलनाडु भागे बदमाशों का नहीं लगा सुराग

मोबाइल चोरी के मामले में जेल जा चुके दो बदमाश विस्फोट की घटना के बाद से फरार हैं। स्थानीय लोगों ने दोपहर में उन्हें गांव में देखा था, पर शाम से उनका पता नहीं लग रहा। परिजनों ने उनके तमिलनाडु जाने की जानकारी दी लेकिन पुलिस उनका पता नहीं लगा सकी है। दोनों के मोबाइल भी स्विच ऑफ हैं। इससे सबसे ज्यादा शक उन दोनों युवकों पर ही है।

Related Articles

Back to top button