Uncategorized

पाकिस्‍तान सेना के कब्‍जे में फंसे भारतीय पायलट विंग कमांडर अभिनंदन का हिसार से भी नाता जुड़ा गया है

पाकिस्‍तान सेना के कब्‍जे में फंसे भारतीय पायलट विंग कमांडर अभिनंदन का हिसार से भी नाता जुड़ा गया है। अभिनंदन सात दिन पहले ही हरियाणा के हिसार में आए। बेंगलुरु में भारतीय वायुसेना की हवाई करतब टीम सूर्य किरण के दो विमान टकराने के दौरान हादसे में शहीद हुए हिसार के पायलट विंग कमांडर साहिल गांधी उनके जिगरी दोस्‍त थे। अभिनंदन उनकी अंत्येष्ठी में शामिल होने पहुंचे थे।

विंग कमांडर साहिल गांधी के अंतिम संस्‍कार में सात दिन पहले हिसार आए थे विंग कमांडर अभिनंदन
करीब पांच से छह घंटे वह हिसार में रहे और साहिल के परिवार को ढांढस बंधाया। विंग कमांडर अभिनंदन के पाकिस्‍तान में पकड़े जाने की सूचना जैसे ही टीवी के माध्‍यम से साहिल गांधी के परिजनों को मिली तो वे व्‍यथित हो गए। साहिल भी एयरफोर्स में विंग कमांडर थे। हिसार निवासी साहिल गांधी 19 फरवरी को बेंगलुरू में एयर शो की रिहर्सल के दौरान दो विमानों के भिड़ जाने से शहीद हुए थे।

सूर्यकिरण विमानों की टक्‍कर में शहीद हुए विंग कमांडर साहिल से अभिनंदन की थी गहरी मित्रता
बता दें कि बुधवार को पाकिस्‍तान के एफ 16 विमान को मार गिराने के दौरान जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर विंग कमांडर अभिनंदन का मिग-21 क्रैश हो गया था। इसके बाद पैराशूट से कूदे अभिनंदन पाकिस्‍तानी सेना के हाथ आ गए थे। विंग कमांडर साहिल और विंग कमांडर अभिनंदन गहरे दोस्त थे। साहिल के अंतिम संस्कार के बाद भी अभिनंदन काफी मर्माहत थे। वह साहिल के अंतिम संस्‍कार के समय तक उनके परिजनों के साथ यहां रुके रहे थे। अभिनंदन के पाक में पकड़े जाने की खबर से हिसार में साहिल गांधी का परिवार व्यथित है।

विंग कमांडर साहिल गांधी के परिजनों ने जागरण से बातचीत में कहा कि यकीन नहीं हो रहा कि अभिनंदन इस हादसे का शिकार हो गए हैं। परिजनों ने कहा पाकिस्‍तान से जब तक अभिनंदन वापस लौटकर भारत नहीं आ जाते चिंता बनी रहेगी। साहिल के परिजनों ने कहा कि अभिनंदन और साहिल गांधी मेें घनिष्‍ट मित्रता थी।  साहिल के अंतिम संस्‍कार के दौरान अभिनंदन उनकी पत्‍नी और बच्‍चे को ढांढस बंधाते रहे।

अभिनंदन के साहिल के परिवार को ढांढ़स बधाते हुए कहा कि शहादत सेना की नौकरी का हिस्‍सा है। इसलिए गर्व होना चाहिए। वहीं अभिनंदन के पाकिस्‍तान में पकड़े जाने की सूचना हिसार शहर में भी आग की तरह फैल गई। शहरवासियों को जब इस बात का पता चला कि अभिनंदन हिसार आए थे तो लाेगों ने उनकी फोटो सोशल मीडिया पर अपलोड करते हुए उनकी सलामती की दुआ मांगी।

बता दें कि साहिल गांधी 19 फरवरी को शहीद हो गए थे उन्‍हें पांच साल के बेटे रेहान ने उन्‍हें मुखाग्नि दी। इस मंजर को देख हर कोई रो दिया। अभिनंदन इस दौरान सबको धीरज बंधा रहे थे। 21 फरवरी को साहिल गांधी का पार्थिव शरीर बेंगलुरु से हिसार पहुंचा थ।

सांसद दुष्‍यंत चौटाला ने भी जताई चिंता, साेशल मीडिया पर डाला पोस्‍ट 
हिसार सांसद दुष्‍यंत चौटाला ने भी विंग कमांडर अभिनंदन के पाकिस्‍तानी सेना के कब्‍जे में फंसने पर चिंता जताई है। उन्‍होंने हिसार में विंग कमांडर साहिल गांधी के अंतिम संस्‍कार के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन से अपनी मुलाकात का जिक्र करते हुए अपने फेसबुक वॉल पर पोस्‍ट डाला है। दुष्‍यंत चौटाला ने लिखा है, हाल में ही जांबाज, बहादुर और सच्‍चे देशभक्‍त साथह अभिनंदन से मुलाकात हुई थी। वह जल्‍दी घर आ जाएं इसके लिए हम सब मिलकर प्रयास करें।

शहर के गणमान्‍य लोगों और अाम व्‍यक्तियों ने भी विंग कमांडर अभिनंदन के जल्‍द पाकिस्‍तानी सेना के चंगुल से मुक्‍त होने और भारत वापस आने की कामना की है। लोगों का कहना है कि भारत सरकार अपने इस वीर अधिकारी की सुरक्षित वापसी के लिए कारगर कदम उठाए।

Related Articles

Back to top button