Uncategorized

INDvsAUS: भारत पर सीरीज हारने का खतरा, ऑस्ट्रेलिया से होगा आज निर्णायक मुकाबला

ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीम जब भारत आई थी तब किसी ने नहीं सोचा था कि वह मेजबान टीम (Team India) को टक्कर दे पाएगी. ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय जमीन पर कदम रखने के बाद सभी धारणाओं को खारिज किया और इस पांच मैचों की सीरीज 0-2 से पिछड़ने के बाद 2-2 से बराबरी पर ला दी. इसका पांचवां और निर्णायक मैच बुधवार (13 मार्च) को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला जाएगा. ऑस्ट्रेलिया की टीम इससे पहले भारत को टी20 सीरीज में भी हरा चुकी है.

वनडे सीरीज में भले ही भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) ने 2-2 मैच जीते हैं. लेकिन ऑस्ट्रेलिया की टीम जिन मैचों में हारी, उनमें भी वह जीत के काफी करीब पहुंची थी. उन मैचों मे अंतिम पलों में जीत उसके हाथ से निकल गई. लेकिन, आखिरी के दो मैचों में उसने ऐसा नहीं होने दिया. रांची में खेले गए तीसरे वनडे में उसने विशाल स्कोर खड़ा किया जिसे बचाने में उसके गेंदबाज सफल रहे.

मोहाली में खेले गए चौथे वनडे में एश्टन टर्नर की तूफानी पारी के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने भारत द्वारा रखे गए विशाल लक्ष्य को भी हासिल कर सीरीज में बराबर कर ली. टर्नर ने भारत के खिलाफ इसी सीरीज में हैदराबाद में ही वनडे में पदार्पण किया था. घरेलू क्रिकेट में फिनिशर के तौर पर मशहूर टर्नर ने भारतीय टीम के लिए नई चिंता खड़ी कर दी है.

Delhi ODI

इस सीरीज को भारतीय टीम की विश्व कप की तैयारी के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि इसके बाद भारत कोई भी वनडे सीरीज नहीं खेलेगा. इस ‘तैयारी’ सीरीज में भी भारत के सामने कई समस्या सामने आई हैं जिन्हें इंग्लैंड जाने से पहले निपटाना उसके लिए जरूरी होगा. चौथे वनडे में भारत का मजबूत गेंदबाजी आक्रमण विशाल लक्ष्य को भी बचा नहीं पाया. तीसरे वनडे में भी ऑस्ट्रेलिया ने 300 से बड़ा स्कोर बनाया था. ऐसे में पांचवें वनडे में भी कोहली के सामने यह चिंता जरूर होगी कि उनके गेंदबाज ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर अंकुश लगाएं.

भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने भी पिछले मैच को लेकर कहा है कि इस तरह की चीजें कम होती हैं. अब हुई हैं तो यह हमारे लिए सही समय पर हुई हैं ताकि हम उनमें सुधार कर सकें. उन्होंने कहा, ‘मैं खुश हूं कि यह इस समय हुआ जिससे हमें पता चला कि विश्व कप से पहले हमें कहां काम करने की जरूरत है.’

यह मैच भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह के लिए बड़ा मैच बन गया है जहां उन्हें अपनी विशेषता को दोबारा हासिल करना होगा. कोहली ने पिछले मैच में युजवेंद्र चहल को मौका दिया था जो 10 ओवरों में 80 रन खा गए थे. इस मैच में कोहली उन्हें बनाए रखते हैं या फिर रवींद्र जडेजा वापस आते हैं, यह देखना होगा. गेंदबाजी के अलावा भारत की बल्लेबाजी भी दिक्कत में रही है. विराट कोहली को छोड़कर टीम का कोई और बल्लेबाज अपने प्रदर्शन में निरंतरता नहीं दिखा सका है. शिखर धवन ने जरूर बीते मैच में शतक जमाया था. रोहित ने भी 95 रनों की पारी खेली थी, लेकिन यह दोनों निरंतरता की कमी से जूझ रहे हैं. वहीं टीम का मध्यक्रम बिना महेंद्र सिंह धोनी के कमजोर लग रहा है.

नंबर-4 की समस्या भारत के लिए बनी हुई है. मोहाली में कोहली ने रायडू को बाहर बैठा कर लोकेश राहुल को खिलाया था. राहुल तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे थे जबकि कोहली ने चौथे स्थान पर बल्लेबाजी की थी. यह प्रयोग हालांकि सफल नहीं रहा था क्योंकि राहुल तीसरे नंबर पर चल नहीं पाए थे. इस मैच में कोहली क्या करते हैं, यह देखना होगा. केदार जाधव से जरूर कोहली अंत में टीम को संभालने की उम्मीद कर सकते हैं.

ऑस्ट्रेलिया के लिए यह सीरीज अपने आप को समझने वाली साबित हुई है. मेजबान टीम ने जिस तरह की प्रतिस्पर्धा इस सीरीज में दिखाई है वह अपने घर में भी नहीं दिखा पाई थी. टीम ने खेल के हर विभाग में भारत को कड़ी चुनौती दी है. हालांकि, उसका काम खत्म नहीं हुआ है. अगर वह आखिरी मैच में जीत सीरीज अपने नाम कर लेती है तो यह उसके लिए इतिहास होगा. भारत अपने घर में 2015-16 के बाद से कोई भी वनडे सीरीज नहीं हारा है. तब दक्षिण अफ्रीका ने भारत को वनडे सीरीज में मात दी थी.

इनमें से चुनी जाएंगी टीमें:
भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप कप्तान), शिखर धवन, अंबाती रायडू, केदार जाधव, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, विजय शंकर, लोकेश राहुल, ऋषभ पंत.
ऑस्ट्रेलिया: एरॉन फिंच (कप्तान), पीटर हैंड्सकॉम्ब, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, ग्लेन मैक्सवेल, एलेक्स कैरी, मार्कस स्टोइनिस, एश्टन टर्नर, जेसन बेहरनडॉर्फ, नाथन कुल्टर नाइल, पैट कमिंस, नाथन लॉयन, झाए रिचर्डसन, केन रिचर्डसन, एडम जाम्पा.

Related Articles

Back to top button