Uncategorized

इन बीमारियों से जल्द छुटकारा दिलायेगी खट्टी मीठी इमली

इमली की चटनी बनाने के लिए या किसी भी खाने में खट्टा स्वाद लाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। विटामिन सी, ई और बी का भरपूर स्रोत इमली में इसके अलावा फास्फोरस, आयरन, मैंगनीज और फाइबर जैसे पोशक तत्व भी पाए जाते हैं। शरीर की विभिन्न पोषण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए इमली इस्तेमाल में लाई जाती है। इमली के फल, छाल और पत्तों तक का औषधीय महत्व होता है। इमली के पत्ते कई तरह के गंभीर रोगों के इलाज में काम आते हैं। शुगर, डायबिटीज, मलेरिया और अल्सर जैसी समस्याएं इमली के पत्ते से सही की जा सकती हैं।

ऐसे मिल सकता है फायदा 

जानकारी के लिए बता दें इमली की पत्तियां खाने से शरीर में शर्करा का स्तर नियंत्रित रहता है। इससे इंसुलिन की सेंसिटिविटी भी बढ़ जाती है। मधुमेह की बीमारी में यह बहुत लाभकारी है। पीलिया में इसका सेवन बहुत फायदेमंद होता है। इमली के पत्तों का रस अल्सर के लक्षणों से राहत देने में मदद करता है। अल्सर में होने वाले असहनीय दर्द से राहत दिलाने में इमली के पत्तियों के रस बेहद लाभकारी होते हैं।

इन बीमारियों में है लाभकारी 

यह है इसके उपाय इमली के पत्ते एंटी-सेप्टिक गुणों से भरपूर होते हैं। इमली के पत्तों का रस घावों को जल्दी ठीक करने की क्षमता रखते हैं। इनके पत्तों का रस हर तरह के संक्रमण को रोकने में कारगर है। नई कोशिकाओं के निर्माण में भी इसकी अहम भूमिका होती है। इसी के साथ इमली की पत्तियों में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है इसलिए यह स्कर्वी रोग के उपचार में काफी लाभकारी होता है। इमली के पत्तों में उच्च एस्कॉर्बिक एसिड सामग्री होती है, जो एंटी-स्कर्वी विटामिन के रूप में कार्य करती है।

Related Articles

Back to top button