उत्तराखंड

ऋषिकेश में खतरे के निशान से सिर्फ 22 सेंटीमीटर नीचे बह रही गंगा

पहाड़ों में हो रही लगातार बारिश से ऋषिकेश में गंगा का जलस्तर बढ़ गया है। गंगा चेतावनी निशान से सिर्फ 22 सेंटीमीटर नीचे बह रही है। वहीं, जलस्तर बढ़ने से ऋषिकेश और आसपास क्षेत्र के गंगा घाट जलमग्न हो गए हैं। त्रिवेणी घाट के आरती स्थल पर भी पानी भर गया है।

केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक देर रात से ही गंगा के जलस्तर में वृद्धि शुरू हो गई थी। गुरुवार को दोपहर में गंगा का जलस्तर 339.28 मीटर तक पहुंच गया था। ऋषिकेश में गंगा का चेतावनी स्तर 339.50 मीटर है, जो वर्तमान जल स्तर से महज 22 सेंटीमीटर ऊपर है।

इस मॉनसून सत्र में पहली बार ऋषिकेश में गंगा का जलस्तर चेतावनी रेखा के करीब पहुंचा है। गौरतलब है कि पिछले 3 दिनों से पर्वतीय क्षेत्रों में लगातार बारिश हो रही है। बीती रात्रि टिहरी जनपद के भिलंगना घाटी में और चमोली क्षेत्र में बादल फटने की घटनाएं सामने आई हैं। जिसके बाद गंगा के जलस्तर में तेजी से वृद्धि हुई है। जल स्तर बढ़ने के साथ ही गंगा में बड़ी मात्रा में बोल्डर भी आ रहे हैं। गंगा के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए प्रशासन ने गंगा के तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया है। हालांकि दोपहर बाद पर्वतीय क्षेत्रों से गंगा और उसकी सहायक नदियों के जलस्तर में तेजी से कमी आने लगी थी।

Related Articles

Back to top button