अपराधउत्तर प्रदेशराज्य

कानपुर: फर्जी क्राइम ब्रांच की टीम ने ब्लाक प्रमुख के घर की छापेमारी, मौके पर असली पुलिस को देख उड़े होश….

बिधनू न्यूआजाद नगर चौकी क्षेत्र में कानपुर देहात मैथा ब्लाक की पूर्व प्रमुख के घर बुधवार रात डेढ़ बजे तीन युवक क्राइम ब्रांच की टीम बनाकर दो वाकी – टाकी के साथ घर में घुसे। जांच के नाम पर पांच लाख रुपये की मांग करने पर ब्लाक प्रमुख के सुरक्षा गार्ड को शक हुआ। जिसपर उसने पुलिस को जानकारी देकर तीनों युवकों को पकड़वा दिया। पुलिस मामले की जानकारी देने से बच रही है।

बिधनू न्यूआजाद नगर गोपाल नगर में कानपुर देहात मैथा विकास खंड से पूर्व ब्लाक प्रमुख रंजू यादव का आवास है। रंजू यादव के फरुखाबाद निवासी मोहम्मद माज उनके बालू की खदान की देखरेख करता था। छह माह पहले खदान का ठेका दिलाने के नाम पर 18 लाख रुपये ख्वाइस ट्रेडिंग कंपनी के खाते में और 60 लाख रुपये नगद ले गया था। साथ ही झांसा देककर घर की जेवर गिरवी रख आया। रुपये मांगने पर बेटे को जान से मारने की धमकी देने लगा। बुधवार रात डेढ़ बजे दो लोगों को कार से लेकर घर आया।

दो युवकों में से एक ने खुद को लखनऊ क्राइम ब्रांच का खुद को सीओ बताते हुए जांच के नाम पर घर के अंदर आ गए। करीब चार घंटे तक आय व्यय के दस्तावेज देखते रहे। जांच के नाम पर घर की तलाशी लेना शुरू करने के साथ ब्लाक प्रमुख के परिवार पर दबाव बनाना शुरू किया। फर्जी टीम ने रंजू यादव के पति राजेश यादव से पांच लाख रुपये की मांग कर दी। इस बीच ब्लाक प्रमुख के सुरक्षा गार्ड सौरभ को टीम के फर्जी होने का शक हुआ। जिसपर उसने कंट्रोल रूम पर पुलिस को सूचना कर दी।

कुछ देर बाद बिधनू न्यूआजाद नगर चौकी प्रभारी मुकेश बाजपेई फोर्स संग मौके पर पहुंच गए। पुलिस को देख फर्जी क्राइम ब्रांच की टीम के हवा उड़ गए। पुलिस ने तीनों आरोपितों को हिरासत में लेकर चौकी ले गई। जहां तलाशी में आरोपितों के पास से लखनऊ क्राइम ब्रांच उप निरीक्षक बृजेश सिंह के नाम का आईकार्ड और दो वाकी- ताकी बरामद हुई। पुलिस सभी आरोपितों से पूछताछ में जुटी है। थाना प्रभारी प्रकाश चन्द्र शर्मा ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ कर जांच की जा रही है। जांच के बाद घटना की जानकारी दी जाएगी।

Related Articles

Back to top button