धर्म

जानिए इस सप्ताह पड़ने वाले सभी व्रत त्योहारों के बारे में

व्रत त्योहारों के बारे में

गस्त माह के दूसरे सप्ताह की आज से शुरुआत हो चुकी है। इस माह काफी बड़े-बड़े व्रत त्योहार पड़ रहे हैं। इस सप्ताह से सावन माह भी समाप्त हो रहा है। सप्ताह की शुरुआत सावन माह के आखिरी सोमवार और पुत्रदा एकादशी के साथ हो रही है। इसके साथ ही इस सप्ताह मंगला गौरी व्रत, प्रदोष व्रत, रक्षाबंधन, श्रावण पूर्णिमा जैसे व्रत और त्योहार पड़ रहे हैं। इसके साथ ही इस सप्ताह मुहर्रम की 10वीं तारीख आशूरा भी पड़ रहा है जो मुस्लिम समुदाय के लिए काफी खास माना जाता है। जानिए इस सप्ताह पड़ने वाले सभी व्रत त्योहारों के बारे में।

अगस्त 2022 दूसरे सप्ताह के व्रत और त्योहार

अगस्त माह के दूसरे सप्ताह के पहले दिन सावन का आखिरी और चौथा सोमवार पड़ रहा है। इस दिन भगवान शिव की पूजा करने के साथ व्रत रखने का विधान है।

श्रावण पुत्रदा एकादशी

सप्ताह के पहले दिन भगवान विष्णु को समर्पित पुत्रदा एकादशी का भी व्रत रखा जा रहा है। मान्यता है कि इन दिन श्रीहरि की विधिवत पूजा करने के साथ व्रत रखने से पुत्र की प्राप्ति होती है। इसके साथ ही सभी पापों से मुक्ति मिल जाती है।

09 अगस्त, मंगलवार- सावन का अंतिम मंगला गौरी व्रत, भौम प्रदोष व्रत, आशूरा, मुहर्रम

मंगला गौरी व्रत

सावन माह के हर मंगलवार को पड़ने वाला मंगला गौरी व्रत इस बार आखिरी होगा जो 09 अगस्त को है। इस दिन सुहागिन महिलाएं अखंड सौभाग्य, पति के दीर्घायु और सुखी जीवन के लिए व्रत रखती हैं। यह व्रत माता पार्वती को समर्पित है।

पंचांग के अनुसार, सावन का दूसरा प्रदोष व्रत 9 अगस्त को पड़ रहा है। इस दिन मंगलवार पड़ने के कारण इसे भौम प्रदोष व्रत कहा जाएगा। इस दिन भगवान शिव का व्रत रखने का विधान है। इस व्रत को रखने से रोग-दोष से छुटकारा मिल जाता है।

आशूरा 2022

मुहर्रम की 10वीं तारीख को आशूरा कहा जाता है। मुस्लिम समुदाय के लोग इस दिन मातम मनाता है। इस दिन शिया समुदाय के लोग ताजिया जुलूस निकालते हैं। आशूरा को हजरत इमाम हुसैन की शहादत हुई थी।

11 अगस्त, गुरुवार, श्रावण पूर्णिमा, रक्षाबंधन हयग्रीव जयंती

रक्षाबंधन

भाई- बहन के अटूट प्रेम का प्रतीक राखी का त्योहार 11 अगस्त के दिन मनाया जाएगा। इस दिन भद्रा का भी साया है। ऐसे में इस साल रक्षाबंधन का त्योहार में बहनें शाम के समय ही भाईयों को राखी बांधे।

12 अगस्त, शुक्रवार: वरलक्ष्मी व्रत

सावन माह के अंतिम शुक्रवार को वरलक्ष्मी व्रत रखा जाता है। इस दिन महालक्ष्मी के वरलक्ष्मी स्वरूप की पूजा की जाती है। माना जाता है कि मां वरलक्ष्मी की पूजा करने से हर समस्या से निजात मिल जाती है और आर्थिक स्थिति मजबूत होती है।

13 अगस्त, शनिवार: भाद्रपद माह प्रारंभ, भाद्रपद कृष्ण पक्ष शुरु

सप्ताह के शनिवार के दिन यानी 13 अगस्त से भाद्रपद माह या भादो माह का प्रारंभ हो रहा है। इस माह श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कजरी तीज जैसे त्योहार पड़ेगे।

Related Articles

Back to top button