Uncategorized

बुधवार तक प्रदूषण से राहत के आसार नहीं, निर्माण कंपनी पर लगा जुर्माना

 दिल्ली में बीते छह दिनों से प्रदूषण का स्तर खराब स्थिति में दर्ज हो रहा है। वहीं प्रदूषण विशेषज्ञों एवं मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि हवा की दिशा में आ रहे बदलाव के कारण रविवार से बुधवार तक प्रदूषण का स्तर और बढ़ेगा। इधर, मौसम विभाग ने रविवार को स्मॉग छाने की आशंका जताई है। हालांकि शुक्रवार की तुलना में शनिवार को एयर क्वॉलिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) का स्तर कम दर्ज हुआ।

हवा नहीं दे रही साथ
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के प्रदूषण मॉनिटरिंग स्टेशनों में एक्यूआइ शनिवार को 305 दर्ज हुआ। जबकि शुक्रवार को यह 352 दर्ज हुआ था। स्काईमेट के मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने बताया कि शनिवार को दिन भर 20 किमी की रफ्तार से हवा चली, जिसने प्रदूषित कणों को आगे पहुंचा दिया और इनका स्तर शुक्रवार की तुलना में गिर गया।

हवा की दिशा में आएगा बदलाव
पलावत ने बताया कि उतर भारत में रविवार को पश्चिमी विक्षोभ दस्तक देगा। इससे हवा की दिशा में परिवर्तन आएगा। अभी दिल्ली में उत्तर-पश्चिम दिशा से हवा चल रही है। यह रविवार से दक्षिण- पश्चिम दिशा से चलने लगेगी। रविवार से बुधवार तक हवा की रफ्तार कम हो जाएगी, जिससे प्रदूषण का स्तर फिर से बढ़ जाएगा। अभी हवा में नमी का अधिकतम स्तर 98 और न्यूनतम 41 फीसद दर्ज हो रहा है। हवा कम होने से नमी के साथ वातावरण में मौजूद प्रदूषित कण और तेजी से घुल जाएंगे, जिससे प्रदूषण बढ़ जाएगा।

सीपीसीबी के प्रदूषण के आंकड़े

  • 1 दिसंबर – 306
  • 30 नवंबर – 352
  • 29 नवंबर – 358
  • 28 नवंबर – 316
  • 27 नवंबर – 352
  • 26 नवंबर – 336
  • 25 नवंबर – 262

लगा एक लाख का जुर्माना 

पर्यावरण विभाग ने प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ सख्त रुख अख्तियार किया है। विभाग ने शनिवार को दो जगहों पर नियमों के उल्लंघन में निर्माण कार्य करा रही कंपनी पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।

पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन दीन दयाल उपाध्याय मार्ग पर पहुंचे। यहां जांच के दौरान दो जगहों पर प्रदूषण की रोकथाम के उपाय नाकाफी पाये गए।

मंत्री के साथ गए अधिकारी ने बताया कि आम आदमी पार्टी के कार्यालय से कुछ ही दूरी पर दो जगहों पर निर्माण कार्य चल रहा है। इन दोनों ही जगहों पर रखे गए सामानों को ढका नहीं गया था। इससे पहले भी पर्यावरण मंत्री हुसैन निर्माण कार्यो का निरीक्षण कर चुके हैं और लापरवाही पर जुर्माना लगा चुके हैं। हुसैन का कहना है कि पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

उन्होंने इस बात पर नाराजगी जताई कि तमाम दिशा निर्देश के बाद भी लोग निर्माण कार्यो में सावधानी नहीं बरत रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके लिए स्वच्छ पर्यावरण अधिक महत्वपूर्ण है। इसे ध्यान में रखते हुए कार्रवाई जारी रहेगी।

Related Articles

Back to top button