खेल

भारत ने AUS में रचा इतिहास, 71 साल में पहली बार जीत से आगाज

एडिलेड ओवल में ऑस्ट्रेलिया को मात देकर विराट ब्रिगेड ने इतिहास रच दिया है. 323 रनों का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम पांचवें और आखिरी दिन 291 रनों पर सिमट गई. मौजूदा सीरीज के पहले टेस्ट में भारत की यह जीत रिकॉर्ड बुक में शामिल हो गई है.

ऑस्ट्रेलिया में 12वीं टेस्ट सीरीज खेल रही टीम इंडिया ने चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है. अब सीरीज का दूसरा टेस्ट 14-18 दिसंबर तक पर्थ में खेला जाएगा.
71 साल (1947-2018) में पहली बार भारत ने ऑस्ट्रेलिया में किसी सीरीज का पहला टेस्ट जीता है. कंगारुओं की धरती पर 11 टेस्ट सीरीज के बाद भारत ने इस बार सीरीज की शुरुआत जीत से की है.

ऑस्ट्रेलियाई धरती पर भारत को 45 टेस्ट मैचों में छठी जीत हासिल हुई. एडिलेड ओवल की बात करें, तो भारत को 15 साल बाद यहां जीत मिली है. एडिलेड ओवल में भारत अपना 12वां टेस्ट मैच खेलने उतरा था.

इस मैदान पर टीम इंडिया के खाते में अब दो जीत हैं. उसने यहां 7 टेस्ट गंवाए हैं, जबकि 3 टेस्ट ड्रॉ रहे. एडिलेड टेस्ट में भारत की जीत के नायक चेतेश्वर पुजारा रहे.

उन्होंने भारत की पहली पारी में 123 रनों की जुझारू पारी खेली, जिसकी बदौलत टीम ने 250 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया. इतना ही नहीं भारत की दूसरी पारी में भी उन्होंने 71 रनों की बशकीमती पारी खेली.

उधर, एडिलेड में पहली टेस्ट जीत के हीरो राहुल द्रविड़ रहे थे. द्रविड़ ने 2003 में 12 से 16 दिसंबर तक खेले गए चार टेस्ट मैचों की सीरीज (2003/04) के दूसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन शतक पूरा किया था और अगले दिन 233 रन बनाकर पवेलियन लौटे थे.

द्रविड़ की बदौलत भारत का स्कोर 523 रनों पर जा पहुंचा. हालांकि ऑस्ट्रेलिया को 33 रनों की मामूली बढ़त जरूर हासिल हुई. इसके बाद अजीत अगरकर की कातिलाना गेंदबाजी (6/41) की बदौलत ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 196 रनों पर सिमट गई थी. इतना ही नहीं, दूसरी पारी में नाबाद 72 रनों की पारी खेलकर द्रविड़ ने टीम इंडिया को 4 विकेट से यादगार जीत दिलाई. जीत के लिए मिले 230 रनों का लक्ष्य भारत ने 6 विकेट खोकर (233/6) हासिल कर लिया था

Related Articles

Back to top button