राज्य

चार दिसंबर को दुबई से लाया गया था मिशेल सीबीआइ गत चार दिसंबर को क्रिश्चियन मिशेल को गिरफ्तार करके भारत लाई थी

अगस्ता वेस्टलैंड मामले में मनी लांड्रिंग की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दावा किया कि बिचौलिया क्रिश्चियन मिशेल श्रीमती गांधी के संपर्क में था। हालांकि श्रीमती गांधी का जिक्र और नाम किस संदर्भ में लिया गया इसका खुलासा अभी नहीं हुआ है। मिशेल से जारी पूछताछ में एक और खुलासा हुआ है जो काफी चौंकाने वाला है। एक ‘आर’ नाम के शख्‍स का जिक्र आया था जिसकी तलाश अब शुरू होगी। यह ‘आर’ अब इस जांच की कड़ी में काफी महत्‍वपूर्ण है।

कौन है ‘आर’

ईडी ने अदालत में कहा कि ब्रिटिश नागरिक मिशेल कई लोगों से बातचीत में एक बड़े आदमी और ‘आर’ के बारे जिक्र कर रहा है। एजेंसी यह पता करना चाहती है कि वह बड़ा आदमी कौन है, जिसे मिशेल और दूसरे लोगों की बातचीत के बीच ‘आर’ कहकर बुलाया जा रहा है।

वकील की भूमिका पर सवाल 

ईडी ने अदालत में कहा कि जब मिशेल बृहस्पतिवार को अपने वकील से मुलाकात कर रहा था, तो उसने एक पेपर अपने वकील को दिया। एजेंसी ने अनुरोध किया कि मामला गोपनीय है, इसलिए मिशेल के वकील को उससे मिलने की अनुमति न दी जाए। क्योंकि उसे बाहर से निर्देश दिए जा रहे हैं। इस पर अदालत ने मिशेल के वकीलों से मुलाकात का समय घटाकर सुबह-शाम मात्र 15-15 मिनट तय कर दिया। इस दौरान वकील दूरी पर रहेंगे।

मिशेल की चिट्ठी से भी हुआ था खुलासा 

बता दें कि इससे पहले क्रिश्चियन मिशेल की एक चिट्ठी सामने आई थी जो फिनमेकैनिका कंपनी के सीईओ जुगेपी ओरसी को लिखी गई थी। उसमें कहा गया था कि सत्ताधारी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर दबाव बनवाया गया था। इसमें यह भी खुलासा हुआ था कि इस सौदे से जुड़ी सभी जानकारी मिशेल को संबंधित मंत्रालयों से मिल रही थी। इस मसले पर प्रधानमंत्री, संयुक्त सचिव और डिफेंस सचिव के बीच में जो बात चल रही थी वह भी मिशेल को पता थी।

चार दिसंबर को दुबई से लाया गया

चार दिसंबर को दुबई से लाया गया था मिशेल सीबीआइ गत चार दिसंबर को क्रिश्चियन मिशेल को गिरफ्तार करके भारत लाई थी। इसके बाद वह 14 दिन तक सीबीआइ रिमांड पर रहा। बाद में उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। गत 22 दिसंबर को ईडी ने मनी लांड्रिंग के मामले में पूछताछ करने के लिए मिशेल को रिमांड पर लिया था। उस पर इस सौदे में करीब 225 करोड़ रुपये की दलाली करने का आरोप है। इस मामले में वायु सेना के पूर्व प्रमुख एसपी त्यागी सहित कई अन्य आरोपित हैं।

Related Articles

Back to top button