विदेश

आज अपने वार्षिक संबोधन में किम जोंग 2019 में देश की शीर्ष प्राथमिकताओं के बारे में बताएंगे

उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन के वार्षिक संबोधन पर पूरी दुनिया की नजर है। आज अपने वार्षिक संबोधन में किम जोंग 2019 में देश की शीर्ष प्राथमिकताओं के बारे में बताएंगे। आमतौर पर यह भाषण उत्तर कोरिया के राज्य-संचालित टेलीविजन नेटवर्क पर प्रसारित होता है, जो अक्सर उत्तर कोरियाई नेतृत्व पर केंद्रित होता है। जिसमें किम बताते हैं कि अगले वर्ष उनका क्या एजेंडा होगा और कैसे दुनिया के अन्य हिस्सों के साथ उनका व्यवहार होगा।

माना जा रहा है कि 2019 के लिए वाशिंगटन के साथ परमाणु निरस्त्रीकरण वार्ता पर किम की सोच और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ हुए शिखर सम्मेलन, दक्षिण कोरिया के साथ संबंधों और प्योंगयांग के अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों से बाहर निकलने के प्रयासों के बारे में सावधानीपूर्वक विचार किया जाएगा। इसका कारण है कि उत्तर कोरिया घरेलू अर्थव्यवस्था बनाने की कोशिश कर रहा है। यह किम जोंग की प्राथमिकता सूची में है। उन्होंने अपने 2018 न्यू ईयर संबोधन में यह स्पष्ट कर किया था और इस पर उनकी सरकार ने काम भी किया।

साल 2012 में उत्तर कोरिया की सत्ता संभालने के बाद किम जोंग उन ने सैन्य परेड के दौरान अपने पहले टीवी भाषण में कहा था कि अब वे दिन लद गए जब उनके देश को धमकाया जा सकता था। उन्होंने कहा था कि राष्ट्र को फिर से अपनी बेल्ट को कसने की जरूरत नहीं होगी, उनका यह बयान 1990 में आए विनाशकारी अकाल के संदर्भ में था। यह वो वक्त था जब उत्तर कोरिया बिल्कुल अलग-थलग हो चुका था। उसके पास यात्रा के लिए पैसे नहीं थे, न ही वो स्वतंत्र रूप से विदेशी मीडिया का अनुभव लेने में भी असमर्थ था। उत्तर कोरिया के लोग दक्षिण कोरिया और चीन के बीच अपने समृद्धि की खाई में बखूबी जानते हैं।

दुनिया से अलग-थलग रहा उत्तर कोरिया अब से सामंजस्य बनाकर चलना चाहता है। किम प्रमुख शहरों में बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की शुरुआत करके, राजधानी का निर्माण करना चाहते हैं। यह स्पष्ट नहीं है कि वह वास्तव में स्थायी विकास सुनिश्चित करने के लिए किस तरह के मौलिक, प्रणालीगत सुधारों की जरूरत के साथ जाने को तैयार है। उत्तर कोरिया ने संकेत दिया है कि वह विश्व व्यापार संगठन में शामिल होना चाहता है और वैश्विक आर्थिक समुदाय का हिस्सा बनना चाहता है। लेकिन यह किम जोंग के लिए आसान नहीं होगा, क्योंकि इसके लिए कुछ जोखिम भरे कदम आगे बढ़ाने की आवश्यकता होगी- जैसे कि पारदर्शिता और वैश्विक नियमों और मानदंडों के प्रति प्रतिबद्धता। ऐसे में किम में वार्षिक संबोधन में क्या-कुछ शामिल होगा, इसपर सबकी निगाहें टिकी हैं। 

Related Articles

Back to top button