उत्तर प्रदेशदेशराज्य

स्वामी अधोक्षजानंद के कुम्भ मेला स्थित शिविर में फहराई गई धर्मध्वजा

गोवर्धनपुरी पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ जी महाराज के कुम्भ मेला के सेक्टर 13 तुलसी मार्ग स्थित शिविर में धर्मध्वजा फहराई गई. कार्यक्रम में प्रदेश के कारागार मंत्री जयकुमार सिंह जैकी व अनेक संत महात्मा मौजूद रहे.
स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ जी के आशीर्वाद की छाया तले मंत्री जयकुमार सिंह जैकी ने मुख्य यजमान के रूप में वैदिक मंत्रोचारण के साथ धर्मध्वजा फहराई.

इस अवसर पर स्वामी अधोक्षजानंद जी ने कहा कि किसी भी धार्मिक अनुष्ठान, यज्ञादि से पूर्व धर्मध्वजा फहराए जाने का विधान धर्मसम्मत है. तीर्थराज प्रयाग यज्ञ भूमि है. यहाँ हर वर्ष माघ मेला, छह वर्षों पर अर्धकुम्भ व बारह वर्षों पर पूर्णकुम्भ का आयोजन होता है.

स्वामी जी ने कहा कि यह आयोजन विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन है जिसके साक्षी देश विदेश के करोड़ों श्रद्धालु बनते हैं. इस दौरान संत महात्माओं के शिविरों में यज्ञ, धार्मिक अनुष्ठान आदि प्रारंभ करने से पूर्व धर्मध्वजा स्थापित की जाती है. इसी क्रम में हमारे शिविर में यह आयोजान किया गया है.

स्वामी अधोक्षजानंद जी ने कहा कि कुम्भ मेला शुरू होते ही मकर संक्रांति से उनके शिविर में यज्ञ, धार्मिक व वैचारिक सम्मलेन सहित अनेक कार्यक्रम आयोजित होंगे. इस अवसर पर मंत्री जयकुमार सिंह जैकी ने कहा कि योगी सरकार ने कुम्भ मेले को भव्य और दिव्य बनाने कोई कसर नहीं छोडी है. मेला क्षेत्र में आने वाले सभी संत महात्माओं व श्रधालुओं को हर संभव सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है.

स्वामी अधोक्षजानंद जी का आभार व्यक्त करते हुए जयकुमार सिंह जैकी ने कहा कि मैं अपने को बहुत सौभाग्यशाली मानता हूँ कि मुझे धर्मध्वजा फहराने का अवसर स्वामी जी ने दिया. कार्यक्रम में ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी, कांगड़ा पीठाधीश्वर स्वामी शारदानंद सरस्वती, पश्चिम बंगाल स्थित काग्द्वीप के महामंडलेश्वर स्वामी आत्म्बोधानंद सरस्वती, उत्तरप्रदेश बार कौंसिल के सदस्य एवं पूर्व अद्यक्ष अमरेन्द्रनाथ सिंह, इलाहाबाद हाईकोर्ट के उपनिबंधक हेम बहादुर सिंह सहित अनेक संत महात्मा उपस्थित रहे.

Related Articles

Back to top button