Uncategorized

खुफिया एजेंसियों से इनपुट मिला है दिल्ली व बेंगलुरु के भीड़भाड़ वाले इलाकों व बाजारों यह हमला हो सकता है

गणतंत्र दिवस (Republic Day) से पहले इंटेलिजेंस एजेंसियों (Intelligence agency) ने देश की राजधानी दिल्ली और कर्नाटक की राजधानी बेेंगलुरु में बड़े आतंकी हमले की आशंका जताई है। खुफिया एजेंसियों से यह भी इनपुट मिला है दिल्ली और बेंगलुरु के भीड़ बाजारों और इलेक्ट्रॉनिक्स आइट्म के बाजारों में यह हमला हो सकता है। यह अलर्ट ऐसे समय में आया है कि जब दिल्ली में गणतंत्र दिवस की परेड में सिर्फ चार दिन शेष हैं।

दिल्ली में घुसे लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी

खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली-एनसीआर के इलाकों में कुछ आतंकियों के घुसने की आशंका जताई है। इनपुट मिला है कि इन आतंकियों की संख्या 5 से 6 हो सकती है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, ये सभी आतंकी लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिद्दीन के हैं। शक है कि इनके पास कुछ विस्फोटक सामग्री भी हो सकती है और ये दिल्ली और इसके आसपास किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। 

फिदायीन हमला कर सकते हैं आतंकी

पुलिस को जो इनपुट मिला है, उसके मुताबिक दिल्ली में घुसे आतंकी लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिद्दीन के हैं। शक है कि इनके पास कुछ विस्फोटक सामग्री भी हो सकती है। यह भी आशंका जताई गई है कि ये आतंकी दिल्ली के भीड़ भाड़ भरे बाजारों में फिदायीन (आत्मघाती) हमले कर सकते हैं। 

दिल्ली व बेंगलुरु के भीड़ भरे बाजारों में चौकसी तेज

आतंकियों के घुसने का इनपुट मिलने के बाद दिल्ली के भीड़भाड़ वाले स्थानों और बाजारों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इतना ही नहीं, बस अड्डा आइएसबीटी, रेलवे स्टेशन, मेट्रो स्टेशन और इंदिरा गांधी इंटरनेशनल (IGI) एयरपोर्ट पर अलर्ट घोषित किया गया है।

मंदिर, मस्जिद और मॉल्स में खास सुरक्षा

किसी तरह का जोखिम नहीं उठाते हुए बेंगलुरु और दिल्ली के मॉल्स, मल्टीप्लेक्स और मंदिरों-मस्जिदो में भी सुरक्षा बढ़ा दिया गया है। मॉल प्रबंधकों, मंदिर व मस्जिद की कार्यकारिणी के सदस्यों को भी खास सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। 

दिल्ली पुलिस पूरी तरह अलर्ट पर

दिल्ली के 15 जिलों के डीसीपी को निर्देश दिए गए हैं कि 26 जनवरी तक हर रात इलाकों में अधिक से अधिक गश्त की जाए। एसएचओ और अन्य लोकल पुलिसकर्मी भी चौकसी पर अधिक ध्यान दें।  

निशाने पर हो सकते हैं भीड़ भाड़ भरे बाजार

आइबी से आए इनपुट के बाद दिल्ली पुलिस ने लोगों से भी गुजारिश की है कि आवश्यक नहीं हो तो भीड़भाड़ भरे बाजारों में जानें से बचें। खासकर चांदनी चौक जैसे भीड़ भाड़ वाले इलाके में जाने से बचें। 

50000 जवान दिल्ली में चप्पे-चप्पे पर होंगे तैनात

गणतंत्र दिवस की खुशी में कोई खलल न पड़े, इसके लिए दिल्ली पुलिस के साथ सुरक्षा एजेंसियां दिन-रात काम कर रही हैं। राजधानी दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था को अभेद्य बनाने के लिए इसे 28 सेक्टरों में बांटा गया है और प्रत्येक सेक्टर की जिम्मेदारी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को दी गई है। सिर्फ विजय चौक से लाल किले तक ही 600 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, ताकि परिंदा भी बिना इजाजत पर न फड़फड़ा सके। राजधानी के हर हिस्से की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए 50 हजार पुलिस और सुरक्षा बल के जवानों की तैनाती की गई है।

दिल्ली पुलिस प्रवक्ता मधुर वर्मा के मुताबिक, नई दिल्ली इलाके में खास चौकसी बरती जा रही है। दिल्ली के सभी प्रमुख बाजारों, रेलवे-मेट्रो स्टेशनों, एयरपोर्ट, बस अड्डा, ऐतिहासिक और धार्मिक स्थलों सहित भीड़भाड़ वाले इलाके में सुरक्षा के चाक-चौबंद बंदोबस्त कर लिए गए हैं। कई महत्वपूर्ण स्थलों को सुरक्षा सेना ने अपने जिम्मे ले ली है। बॉर्डर सहित अन्य प्रमुख स्थलों पर चौकसी बढ़ा दी गई है। वीवीआइपी मूवमेंट के तहत भी वृहद स्तर पर यातायात प्रबंधन किया गया है। इसके साथ ही सुरक्षा के प्रति अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करने के लिए पुलिस उद्घोषणा करने के साथ ही पुलिस-पब्लिक मीटिंग भी कर रही है।

दिल्ली पुलिस समेत आसपास के राज्यों की कई बार समन्वय बैठकें हो चुकी हैं। सड़कों पर वाहनों की लगातार जांच की जा रही है। संदिग्धों पर लगातार नजर है। यहां सबसे अधिक सुरक्षा 26 जनवरी को ऐतिहासिक राजपथ पर मुख्य आयोजन होगा। वहीं, परेड विजय चौक से शुरू होकर लाल किले तक जाएगी। इसके तहत मुख्य आयोजन स्थल इंडिया गेट और परेड गुजरने वाले मुख्य मार्गो सहित नई दिल्ली एरिया में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं।

राजपथ-इंडिया गेट व आसपास के इलाके की सुरक्षा के लिए बहुस्तरीय सुरक्षा योजना तैयार की गई है। अंदर की सुरक्षा का जिम्मा जहां एसपीजी और एनएसजी पर होगा वहीं, बाहर से दिल्ली पुलिस उन्हें मदद करेगी। परेड गुजरने वाले प्रमुख मार्ग व ऊंची इमारतों पर शार्प शूटर तैनात किए जाएंगे, ताकि दहशतगर्दों को उनके मंसूबे में कामयाब होने से पहले ही उन्हें उनके अंजाम तक पहुंचा दिया जाए। हवाई हमले को नाकाम करने के लिए एंडी एयरक्राफ्ट गन से पहरा किया जा रहा है। प्रमुख स्थलों पर लाइट मशीनगन से लैस कर्मियों को मुस्तैद किया गया है।

खुफिया सूत्रों ने किया है आगाह

खुफिया सूत्रों ने आगाह किया है कि गणतंत्र दिवस के दौरान कुछ आतंकी संगठन दहशत फैलाने वाली गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में हैं। वे दिल्ली के भीड़भाड़ वाले बाजार सहित मेट्रो स्टेशन, एयरपोर्ट अथवा धार्मिक व ऐतिहासिक स्थलों को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं। इस सूचना के बाद दिल्ली को अलर्ट पर रखा गया है।

एयरपोर्ट पर खास सुरक्षा

एयरपोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी गई है। यहां क्यूआरटी लगातार गश्त कर रही है जबकि सिटी साइड में अतिरिक्त कमांडो तैनात किए गए हैं। विस्फोटक व संदिग्ध चीजों की पहचान के लिए डॉग स्क्वायड सक्रिय है। मेट्रो पर हर पल नजर मेट्रो की सुरक्षा में वहां तैनात छह हजार सुरक्षा कर्मियों के अलावे चार अतिरिक्त कंपनिया लगाई गई हैं। सुरक्षा के तहत यात्रियों की दोबारा जांच के अलावा मशीन के बाद सामान की मैनुअली जांच के आदेश भी जारी किए गए हैं। पार्किंग स्थलों की जांच के निर्देश पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया है कि वे अपने-अपने इलाके में सभी पार्किंग स्थलों की नियमित जांच करें। होटलों व गेस्ट हाउसों में ठहरने वालों पर नजर रखें। पुलिस सत्यापन में कोताही न बरतें।

Related Articles

Back to top button