खेल

हैमिल्टन का सबसे छोटा स्कोर भारत के नाम, 9 मैचों में 6 बार हारी है टीम, जानिए पूरा रिकॉर्ड

न्यूजीलैंड में ऐतिहासिक जीत दर्ज करने वाली भारतीय टीम गुरुवार (31 जनवरी) को चौथे मुकाबले के लिए मैदान पर उतरेगी. सीरीज जीत चुकी भारतीय टीम इस मैच में नए कप्तान रोहित शर्मा की अगुवाई में उतरेगी. विजयरथ पर सवार टीम इंडिया इस मैच में कुछ प्रयोग करती भी दिख सकती है. दूसरी ओर, सीरीज गंवा चुकी न्यूजीलैंड की टीम के सामने अब नाक का सवाल है. वह भारत से द्विपक्षीय सीरीज (India vs New Zealand) में कभी इतनी बुरी तरह से नहीं हारी है. वनडे सीरीज में कुल पांच मैच खेले जाने हैं. भारतीय टीम पहले तीन मैच जीतकर 3-0 से आगे है. 

वनडे सीरीज का चौथा मैच हैमिल्टन (Hamilton ODI) के मैदान पर खेला जाना है. इस मैदान पर भारत ने अब तक नौ वनडे मैच खेले है. इनमें से तीन में उसे जीत मिली है, जबकि छह मैचों में हार का सामना करना पड़ा है. यानी, भारत की जीत-हार का अंतर 1-2 है. भारत के लिए अच्छी बात यह है कि उसने यहां अपना पहला मैच जीता था. वह यहां आखिरी बार 2015 में खेला था, तब उसने आयरलैंड को आठ विकेट से हराया था. भारतीय टीम इसके अलावा यहां एक-एक बार न्यूजीलैंड और जिम्बाब्वे को भी हरा चुकी है.

पुरानी यादों से आत्मबल बढ़ाना चाहेगा न्यूजीलैंड 
मेजबान न्यूजीलैंड की बात करें तो उसने यहां कुल 28 मैच खेले हैं, जिनमें से उसे 19 में जीत मिली है. यह उत्साह बढ़ाने वाला आंकड़ा है. अगर हम इस मैदान पर भारत-न्यूजीलैंड की बात करें तो मेजबान टीम का पलड़ा बेहद भारी है. इन दोनों टीमों के बीच इस मैदान पर पांच वनडे मुकाबले हुए हैं. इनमें से चार में न्यूजीलैंड ने जीत दर्ज की है. भारत यहां न्यूजीलैंड को सिर्फ एक बार ही हरा सका है. उसने न्यूजीलैंड पर यहां साल 2009 में 84 रन से जीत दर्ज की थी.

भारत के भरोसे के लिए ताजा यादें ही काफी हैं 
भारतीय टीम न्यूजीलैंड दौरे पर बेहतरीन फॉर्म में है. वह अपने इस प्रदर्शन से इतिहास के पन्नों को पलट रही है. भारतीय टीम ने यहां के माउंट माउंगानुई में पहली बार मैच खेले और जीत दर्ज की. इसी तरह उसने इस दौरे से पहले यहां आखिरी बार 2009 में सीरीज जीती थी. भारत ने जीत का यह इंतजार भी खत्म करते हुए मौजूदा सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त ले ली है.

10 प्वाइंट में जानें हैमिल्टन के रिकॉर्ड:
1.
 इस मैदान का सबसे छोटा स्कोर भारत के नाम दर्ज है. न्यूजीलैंड ने उसे 2003 में यहां 122 रन पर ऑलआउट कर दिया था.

2. इस मैदान पर सबसे बड़ा स्कोर वेस्टइंडीज ने बनाया है. उसने 2014 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 363/4 का स्कोर बनाया था.

3. इस मैदान पर की सबसे बड़ी जीत वेस्टइंडीज के नाम है. उसने 2014 में यहां न्यूजीलैंड को 203 रन से हराया था.

4. विकेटों के मामले में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड न्यूजीलैंड के ही नाम है. उसने 2008 में यहां इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया था.

5. विकेटों के मामले में सबसे करीब जीत न्यूजीलैंड और श्रीलंका के नाम है. न्यूजीलैंड ने 2007 में ऑस्ट्रेलिया को एक विकेट और श्रीलंका ने 2001 में न्यूजीलैंड को तीन रन से हराया था.

6. इस मैदान पर सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी रॉस टेलर हैं. वे यहां 17 मैचों में 51.78 की औसत से 725 रन बना चुके हैं.

7. इस मैदान पर सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन के नाम है. उन्होंने 2007 में 181 रन की पारी खेली थी.

8. इस मैदान पर सबसे अधिक शतक रॉस टेलर (3) के नाम है. भारत के बल्लेबाजों में वीरेंद्र सहवाग और शिखर धवन शतक बना चुके हैं.

9. इस मैदान पर सबसे अधिक 13-13 विकेट लेने का संयुक्त रिकॉर्ड ट्रेंट बोल्ट और टिम साउदी के नाम है. भारत के मोहम्मद शमी यहां सात विकेट ले चुके हैं.

10. इस मैदान पर सबसे अधिक मैच खेलने का रिकॉर्ड रॉस टेलर (17) के नाम है. ब्रेंडन मैक्कुलम ने यहां सबसे अधिक 8 मैचों में कप्तानी की है.

Related Articles

Back to top button