राज्य

एक और मेजर शहीद, डेढ़ साल पहले हुई थी शादी, तीन बहनों के थे इकलौते भाई

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सोमवार को आतंकवादियों के साथ हुए एनकाउंटर में सेना के एक मेजर सहित सेना के चार जवान शहीद हो गए हैं। इस एनकाउंटर में उत्तराखंड के देहरादून में रहने वाले मेजर विभूति कुमार ढौंडियाल शहीद हो गए हैं। उनका आवास देहरादून के नेश्विवला रोड के 36 डंगवाल मार्ग में है। शहीद मेजर 55 राष्ट्रीय रायफल्स में तैनात थे। पिछले साल ही शहीद की शादी हुई थी। शहीद मेजर तीन बहनों की इकलौते भाई थे। तीनों बहन उनके बड़ी हैं। घर में उनकी पत्नी, दादी और मां को मेजर डीएस ढौंडियाल की शहादत के बारे में नहीं बताया गया था। लेकिन बाद में सेना के अफसरों ने पत्नी को शहादत की खबर दे दी। खबर पता लगते ही आसपास के लोग उनके आवास पहुंचे और ढांढस बंधाया। रविवार रात से जारी इस मुठभेड़ में मेजर समेत 4 जवान शहीद हो गए जबकि 1 जवान घायल है। पूरे इलाके को घेरकर सेना द्वारा ऑपरेशन को अंजाम दिया जा रहा है। बताया जा रहा है कि सेना ने पूरे मकान को उड़ा दिया, जिसमें आतंकी छुपे हुए थे।

Security personnal walk during two militants and an army soldier were killed in a gunfight in Pazalpora area of Sopore in north Kashmir’s Baramulla district on Friday morning.Express Photo by Shuaib Masoodi 10/26/2018

आपको बता दें कि इससे पहले शनिवार को राजौरी के नौशेर सेक्टर में आईईडी का निष्क्रिय करने के दौरान मेजर चित्रेश बिष्ट शहीद हुए थे। मेजर चित्रेश का आज देहरादून में अंतिम संस्कार हुआ है।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के पिंगलान इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार, पिंगलान इलाके में बीती रात से ही आतंकियों के छिपे होने की जानकारी सामने आने के बाद से सेना का सर्च ऑपरेशन जारी है। सेना के साथ पुलिस सर्च ऑपरेशन कर रही है।

इस सर्च ऑपरेशन के दौरान सेना ने जैश के आतंकी को घेर लिया था। शहीद हुए जवानों के नाम मेजर विभूति कुमार ढौंडियाल, हवलदाल श्यो राम, अजय कुमार और हरी सिंह है। एनकाउंटर में शहीद हुए जवान 55 राष्ट्रीय राइफ्ल्स से हैं।

Related Articles

Back to top button