उत्तर प्रदेश

वाणिज्य कर अधिकारी गलत तरीके से लाए जा रहे माल के अलावा तस्करी की शराब भी पकड़ेंगे

वाणिज्य कर अधिकारी गलत तरीके से लाए जा रहे माल के अलावा तस्करी की शराब भी पकड़ेंगे। वाणिज्य कर आयुक्त ने सचल दल टीमों को इसके निर्देश दिए हैं। उन्हें तस्करी की शराब पकड़ने के तुरंत बाद आबकारी विभाग को सूचना देनी होगी। आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए यह कदम उठाए गए हैं।

आबकारी विभाग प्रदेश में तस्करी की देसी व विदेशी शराब के खिलाफ अभियान चला रहा है। विभाग ने अभियान में वाणिज्य कर अधिकारियों से सहयोग मांगा है, इसलिए वाणिज्य कर आयुक्त अमृता सोनी ने सभी सचल इकाइयों को सड़क पर चेकिंग के दौरान शराब की तस्करी पर भी नजर रखने के निर्देश दिए हैं। इसमें खासतौर पर दूसरे राज्य से प्रदेश होते हुए अरुणाचल प्रदेश या अन्य पूर्वी राज्यों के लिए जाने वाली शराब पर नजर रखने के लिए कहा है। ऐसी गाड़ियां मिलने पर तुरंत जानकारी आबकारी विभाग के स्थानीय अधिकारियों को दें। शराब पकड़ने पर हो चुका विवाद शराब पकड़ने पर वाणिज्य कर व आबकारी विभाग के अधिकारियों में विवाद हो चुका है। उन्नाव में शराब की बोतलों से भरा कंटेनर वाणिज्य कर अधिकारी कानपुर में लखनपुर स्थित आफिस ले आए थे। कानपुर आबकारी अधिकारी को जानकारी दी गई तो उन्होंने यह कहकर माल लेने से मना कर दिया था कि उन्नाव में पकड़ा गया माल वे नहीं ले सकते। उन्नाव के अधिकारी से शराब कब्जे में लेने के लिए कहा गया था तो वहां के अधिकारी ने यह कहकर लेने से मना कर दिया था कि जो गाड़ी कानपुर में खड़ी है, कैसे कह सकते हैं कि उसे उन्नाव से पकड़ा गया। आखिरकार वाणिज्य कर अधिकारियों को शासन में इसकी शिकायत करनी पड़ी थी तब कानपुर के आबकारी अधिकारी को माल लेकर रिपोर्ट लिखाने के निर्देश दिए गए थे।

Related Articles

Back to top button