Uncategorized

शरीर के इस हिस्से में तिल इस बीमारी का है संकेत

हम आपको बता दें तिल और मस्से बढ़ने के साथ-साथ कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के खतरे को भी बढ़ा सकते हैं। क्योंकि तिल और मस्सा एक तरह से स्किन डिजीज होता है। इनकी वजह से मेलानोमा किस्म का स्किन कैंसर होता है। त्वचा के रंग का निर्माण करने वाले मेलेनोसाइट्स में यह रोग होता है। तिल और मस्से के बढ़ने के पीछे एचपीवी इंफेक्शन होता है। 

ऐसे दिखाई देते है लक्षण 

जानकारी के अनुसार एचपीवी इंफेक्शन यानी ह्यूमन पैपिलोमावायरस 150 से ज्यादा वायरसों का ग्रुप होता है। इस वायरस की वजह से शरीर के प्राइवेट पॉर्ट्स, हाथ, उंगलियों, कोहनी या गर्दना पर तिल या मस्से उभर आते हैं। यह आगे चलकर मेलानोमा स्किन कैंसर का कारण बन सकते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि समलैंगिक पुरुषों को इस रोग का सबसे ज्यादा खतरा होता है। अगर आपको एचपीवी इंफेक्शन के लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

यह भी है नुकसान 

इसी के साथ सूरज की तेज किरणें मेलानोमा स्किन कैंसर का पहला कारण है। अधिक समय तक धूप में रहने से स्किन की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचता है। इसका दूसरा कारण, संक्रमण है। अगर घर में किसी दूसरे को यह समस्या है तो घर के दूसरे सदस्यों को भी यह समस्या होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। शरीर में किसी चोट, घाव या कटी हुई स्किन के जरिए एचपीवी इंफेक्शन के होने का खतरा बढ़ता है। इस तरह के इंफेक्शन का खतरा उन पुरुषों को ज्यादा होता है, जो पुरुषों से ही शारीरिक संपर्क बनाते हैं।

Related Articles

Back to top button