खेल

श्रीलंका को टूर्नामेंट में बने रहने के लिए इंग्लैंड के खिलाफ जीत की जरूरत

1996 की चैंपियन टीम श्रीलंका के लिए आईसीसी विश्व कप 2019 ( ICC World Cup 2019) में बने रहने की चुनौती है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पिछला मैच 87 रन से गंवाने के बाद श्रीलंका की टीम इंग्लैंड (England vs Sri Lanka) से शुक्रवार को भिड़ेगी जो खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही है. टूर्नामेंट में पांच मैचों में चार अंक के साथ श्रीलंका की टीम तालिका में छठे स्थान पर है और सेमीफाइनल में जगह पक्की करने के लिए उसे अगले चारों मुकाबले जीतने होंगे.

श्रीलंका की टीम को वापसी का इंतजार
विश्व कप ट्राफी 1996 में जीतने वाली टीम अपने शुरूआती मुकाबले में हार गई जबकि उसके दो मैच बारिश के कारण धुल गS. पिछले हफ्ते गत चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया से लंदन में मिली शिकस्त के बाद नाकआउट में जगह बनाने के लिए श्रीलंका को इंग्लैंड को हराना होगा जो शानदार लय में है. वहीं इंग्लैंड की टीम पांच मैचों में चार जीत से तालिका में दूसरे स्थान पर है. पाकिस्तान के खिलाफ मिली हार को छोड़ दें तो टीम को रोकना काफी मुश्किल लग रहा है.

शानदार रिकॉर्ड है टूर्नामेंट में इंग्लैंड का
इयोन मोर्गन के नेतृत्व वाली टीम टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजी इकाई के रूप में उभरी है. उन्होंने पांच मैचों में चार बार 300 से अधिक का स्कोर खड़ा किया. उसने बांग्लादेश के खिलाफ छह विकेट पर 386 और अफगानिस्तान के खिलाफ छह विकेट पर 397 रन का विशाल स्कोर भी शामिल है. सर्वाधिक रन बनाने वाले शीर्ष 10 बल्लेबाजों की सूची में इंग्लैंड के पांच बल्लेबाज शामिल हैं. इसके साथ ही विश्व कप में 12 बार बल्लेबाजों ने शतकीय पारी खेली है जिसमें पांच बार इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने यह कारनामा किया.

जेसन राय के बिना भी टीम रही बेहतरीन
अफगानिस्तान के खिलाफ मैच में सलामी बल्लेबाज जेसन राय की गैरमौजूदगी मोर्गन ने महसूस नहीं होने दी. उन्होंने मंगलवार को अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए 71 गेंद में रिकार्ड 17 छक्कों और चार चौकों की बदौलत 148 रन बनाए. मोर्गन एकदिवसीय क्रिकेट में पहले बल्लेबाज हैं जिन्होंने छक्कों से ही 100 से अधिक रन जुटाए. उनकी पारी के दम पर इंग्लैंड ने छह विकेट पर 397 रन का विशाल खड़ा किया.

श्रीलंका की बल्लेबाजी है कमजोर कड़ी
इंग्लैंड की मजबूत बल्लेबाजी को रोकने की जिम्मेदारी श्रीलंका के तेज गेंदबाजों की जोड़ी लसिथ मलिंगा और नुआन प्रदीप पर होगी. श्रीलंका को बल्लेबाजी में मध्यक्रम की कमजोरी को दूर करना होगा जो अब तक लगभग हर मैच में लड़खड़ाती दिखी है. न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम 14 रन के अंदर पांच विकेट गंवाकर 136 पर आल आउट हो गयी तो वहीं अफगानिस्तान के खिलाफ टीम ने 36 रन के अंदर सात विकेट गंवा दिए और पूरी टीम 36.5 ओवर में 201 रन पर पवेलियन लौट गई. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी श्रीलंका तीन विकेट पर 205 रन के साथ बेहतर स्थिति में था लेकिन उसके बाद पूरी टीम 247 रन तक आउट हो गई. करुणारत्ने की टीम के लिए टूर्नामेंट में अब तक 12 विकेट लेने वाले जोफ्रा आर्चर और 9 विकेट लेने वाले मार्क वुड जैसे बेहतरीन गेंदबाजों का सामना करना आसान नहीं होगा.

टीमें :
इंग्लैंड: इयोन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जोफ्रा आर्चर, जानी बेयरस्टो, जोस बटलर, टॉम कुरेन, लियाम डासन, लियाम प्लंकेट, आदिल राशीद, जो रूट, जासन राय, बेन स्टोक्स, जेम्स विंस, क्रिस वोक्स, मार्क वुड में से.

श्रीलंका: दिमुथ करुणारत्ने (कप्तान), धनंजय डिसिल्वा, नुवान प्रदीप, अविष्का फर्नांडो, सुरंगा लकमल, लसिथ मलिंगा, एंजेलो मैथ्यूज, कुसल मेंडिस, जीवन मेंडिस, कुसल परेरा, तिसारा परेरा, मिलिंदा श्रीवर्धना, लाहिरु तिरिमाने, इसुरू उदाना और जेफ्री वंडारसे में से.

Related Articles

Back to top button