Uncategorized

झालरापाटन में ठंड से किसान की मौत, वसुंधरा ने पूछा- ‘चाटुकार मुख्यमंत्री कहां हैं?’

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के विधानसभा क्षेत्र झालरापाटन में ठंड से किसान की मौत के बाद पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मौजूदा सरकार को आड़े हाथों लिया है. वसुंधरा ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को आड़े हाथ लिया है और सरकार की किसानों के प्रति संवेदना खत्म होना बताया है. साथ ही साथ गहलोत को गांधी परिवार की चाटुकारिता करना बताया है.

वसुंधरा राजे ने ट्विटर पर गहलोत सरकार पर हमला बोलने के लिए लगातार दो ट्वीट किए हैं. इसमें उन्होंने लिखा, ‘सत्ता के मद में चूर गहलोत सरकार की किसानों के प्रति संवेदना खत्म हो चुकी है. झालरापाटन के गोविंदपुरा गांव के मोहनलाल लोधा की रात में सिंचाई के दौरान ठंड लगने से मौत हो गई. किसानों की सरकार और किसानों का मुख्यमंत्री का ढोल पीटने वाले राहुल गांधी के मुख से अब एक शब्द भी नहीं निकला.’

उन्होंने कहा, ‘किसानों के हितैषी बनने का ढोंग करने वाले अशोक गहलोत को भी इनकी पीड़ा नहीं नजर आती. आएगी भी कैसे, 16 दिन के कार्यकाल में 11 दिन तो मुख्यमंत्री ने दिल्ली में ‘एक परिवार’ की चाटुकारिता में लगा दिए.

इसके अलावा उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, ‘वरिष्ठ नागरिकों का सम्मान हमारी साझा जिम्मेदारी है. इस दिशा में कदम उठाते हुए हमने राजस्थान में पहली बार 80 साल से अधिक आयु के वृद्धजनों को निःशुल्क बस यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराई. साथ ही बुजुर्ग यात्री के सहयोगी को भी किराये में 50% की छूट देना का काम किया.

मालूम हो कि गहलोत तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री बने हैं. वह 1998 में पहली बार मुख्यमंत्री बने और 2008 में दूसरी बार मुख्यमंत्री का पदभार संभाला.उप मुख्यमंत्री बने पायलट फिलहाल राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष हैं. वह लोकसभा सदस्य और मनमोहन सिंह सरकार में मंत्री रह चुके हैं. वह अपने जमाने में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री दिवंगत राजेश पायलट के पुत्र हैं. मुख्यमंत्री का पद संभालते ही गहलोत ने किसानों के कर्जमाफी का फैसला लिया है.

Related Articles

Back to top button