राज्य

सदर यमुनानगर थाना क्षेत्र के गांव कुंजल कंबोयान में 11 वर्षीय खुशी का फंदे पर लटका मिला शव

एक बेटी अपने पिता के साथ जाने की जिद कर रही थी। जब उसे नहीं ले गए तो उसने अपनी जिंदगी समाप्त कर ली। उसने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने 174 की कार्रवाई की।

सदर यमुनानगर थाना क्षेत्र के गांव कुंजल कंबोयान में 11 वर्षीय खुशी का फंदे पर शव लटका मिला। उसके दादा पालाराम बाहर से पशुओं के चारा लेकर आए, तो कमरे में पंखे से खुशी लटकी हुई थी। उन्होंने शव नीचे उतारा और पड़ोस के लोगों को एकत्र किया। पुलिस ने शव का बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया।

पिता, मां गए थे अस्पताल

पालाराम के मुताबिक, उसका बेटा अनिल पत्नी व दो बच्चियों के साथ यमुनानगर दवाई लेने के लिए आया था। शाम करीब पांच बजे वह भी पशुओं के लिए चारा लेने के लिए चले गए। करीब आधे घंटे बाद वह वापस आए और खुशी को आवाज लगाई, लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं आया।

टीवी भी चल रही थी

कमरे का दरवाजा खुला हुआ था। अंदर टीवी चल रहा था। जब वह अंदर गए, तो खुशी चुन्नी के फंदे से पंखे से लटकी हुई थी।

छठीं कक्षा में पढ़ती थी खुशी

खुशी गांव में ही सरकारी स्कूल में छठीं कक्षा में पढ़ती थी। परिवार के साथ-साथ गांव के लोग भी इस घटना से हैरान हैं। पिता अनिल कुमार का कहना है कि बेटी काफी समझदार थी। कोई बात होती, तो उन्हें बता देती। वहीं बताया जा रहा है कि जब उसके पिता व मां उसकी छोटी बहनों को अस्पताल में लेकर गए, तो वह भी जिद करने लगी। जिस पर उसे मना कर दिया था।

दादा को खुद चाय बनाकर दी

घटना से पहले खुशी ने अपने दादा पालाराम को चाय बनाकर दी थी। माता-पिता के बाहर होने की वजह से दुकान से रस का पैकेट लेकर आई। उसके साथ ही दादा ने चाय पी। बर्तन भी साफ किए हुए थे। वहीं जांच अधिकारी एसआइ सुमेश पाल ने बताया कि गांव से ही किसी ने फोन कर इस बारे में बताया था। जब वह पहुंचे, तो शव को नीचे उतार दिया गया था। एफएसएल टीम ने भी नमूने लिए हैं। फिलहाल पिता के बयान के आधार पर 174 की कार्रवाई की गई है।

Related Articles

Back to top button