राज्य

18 किलोमीटर एलिवेटेड रोड के निर्माण पर करीब 2500 करोड़ रुपये का खर्च आएगा

 दिल्ली सरकार का लोक निर्माण विभाग (Public Works Department) देश की राजधानी दिल्ली में तकरीबन 2500 करोड़ रुपये की लागत से 18 किलोमीटर लंबा एलिवेटेड पुल बनाने जा रहा है। इस पुल के बनने से न केवल दिल्ली, बल्कि एनसीआर के शहरों सोनीपत, नोएडा, गाजियाबाद, गुरुग्राम और फरीदाबाद आने-जाने में आसानी होगी। इससे काफी हद तक जाम का झंझट खत्म हो जाएगा।

जानकारी के लिए लोगों का सफर आसान बनाने के लिए PWD ने करीब 18 किमी लंबा एलिवेटेड एक्सप्रेस-वे बनाने का प्लान तैयार किया है। योजना का अमलीजामा पहनाने की कड़ी में फिजिबिलिटी रिपोर्ट भी तैयार कराई जा रही है।

योजना के मुताबिक, 18 किलोमीटर एलिवेटेड रोड के निर्माण पर करीब 2500 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। यह पुल 6 लेन का होगा और इसकी ऊंचाई जमीन से कई जगहों पर 20-22 मीटर तक होगी, इसलिए यहां पर अतिक्रमण की गुंजाइश नहीं के बराबर होगी। इसका सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि यहां पर ट्रैफिक लगातार चलता रहेगा।

इन शहरों के लोगों का सफर होगा आसान

पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के मुताबिक, इस 18 किलोमीटर एलिवेटेड रोड सोनीपत, नोएडा, फरीदाबाद और दक्षिणी दिल्ली के यात्रियों का सफर सुगम हो जाएगा। गौरतलब है कि फिलहाल राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway)-2 से सोनीपत और हरियाणा के दूसरे शहरों से उत्तरी दिल्ली में आवागमन अधिक होता है। यात्रा के दौरान लोग यहां से आउटर रिंग रोड होते हुए दक्षिणी दिल्ली, आइटीओ, नोएडा और फिर फरीदाबाद की ओर जाते हैं।

जाम से मिलेगी निजात

एलिवेटेड रोड बनने से सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि सोनीपत से फरीदाबाद जाने वाले लोग सीधे इस एलिवेटेड पुल से डीएनडी फ्लाइओवर होते हुए जा सकेंगे। ठीक ऐसे ही सोनीपत से नोएडा जाने के लिए भी यह एलिवेटेड पुल लोगों की राह आसान करेगा। सबसे अच्छा तो यह होगा कि एक्सप्रेस-वे बनने के बाद आउटर रिंग रोड और सिग्नेचर ब्रिज पर ट्रैफिक का दबाव भी घट जाएगा। इससे दोनों सड़कों पर जाम नहीं के बराबर होगा।

कई स्थानों पर होगी कनेक्टिविटी

18 किलोमीटर का प्रस्तावित एलिवेटेड पुल सिग्नेचर ब्रिज के पास आउटर रिंग रोड से गोपालपुर गांव के पास जुड़ेगा। इससे आगे यह यमुना फ्लड प्लेन एरिया और आउटर रिंग रोड के बीच समानांतर आगे बढ़ेगा। इसके बाद सलीमगढ़ फोर्ट के पास सड़क से जुड़ जाएगा। यहां से राजघाट के पास बनीं समाधियों के पीछे से निकलकर आईटीओ पुल और फिर डीएनडी फ्लाइओवर में जाकर मिल जाएगी। गोपालपुर गांव के पास से डीएनडी फ्लाइओवर तक रोड की कुल लंबाई करीब 18 किलोमीटर आंकी गई है।

जानिये प्रस्तावित एलिवेटेड पुल के बारे में

  •  2500 करोड़ का प्रोजेक्ट
  •  एलिवेटेड रोड की कुल लंबाई 18 किमी होगी
  •  6 लेन का यह पुल होगा
  •  निर्माण की अविध 3 साल होगा
  •  इस पर लागत लगभग 2500 करोड़ रुपये आएगी

Related Articles

Back to top button